अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







भोपाल में ब्लैक फंगस से पीड़ित भर्ती मरीज़ के परिजनों को अब होना पड़ रहा इस दवा के लिए परेशान

25 May 2021

no img

भोपाल: ब्लैक फंगल संक्रमण के इलाज में अब मरीजो के परिजनों को नई नई मुश्किलो का सामना करना पड़ रहा हैं। ऐंटिफंगल दवा - एम्फोटेरिसिन बी लिपोसोमल - की खरीद के लिए लाल-टेप वाले हस्तक्षेप की एक श्रृंखला की आवश्यकता होती है। दवा प्राप्त करने के लिए एक मरीज के परिवार को इंजेक्शन प्राप्त करने के लिए चार चरणों से गुजरना पड़ता है।

गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) डीन जीएमसी में गठित विशेष समिति से अनुमति के बाद ज्यादातर मामलों में, जारी की जाने वाली शीशियों पर द्वारा हस्ताक्षर किए जाते हैं। जीएमसी डीन और ईएनटी विभाग के प्रमुख द्वारा खुराक का वास्तविक वितरण दूसरे डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जाता है। उनकी एक महत्वपूर्ण भूमिका है, क्योंकि अक्सर निजी अस्पताल सरकारी डॉक्टर द्वारा अनुमोदित की तुलना में अधिक खुराक की सलाह देते हैं। कई मामलों में, जीएमसी सलाहकारों द्वारा दिए गए इंजेक्शनों की संख्या को कम कर दिया जाता है।

सप्ताहांत में, कई रोगी रिश्तेदार जीवनरक्षक इंजेक्शन लेने के लिए चक्कर लगा रहे थे। कई लोगों के लिए, यह चार चरण की लालफीताशाही प्रक्रिया इंजेक्शन प्राप्त करने के लिए एक पखवाड़े के प्रयास की शुरुआत है। सर्जरी के बाद पूरे कोर्स के लिए 60 खुराक की आवश्यकता होती है। काले फंगस का इलाज कोविड-19 से ज्यादा महंगा साबित हो रहा है। जीएमसी में भर्ती मरीजों के लिए इंजेक्शन का वितरण निःशुल्क है। उपचार के लिए 30 से अधिक बेड आरक्षित हैं। जबकि निजी मरीज 60 की पूरी खुराक के लिए करीब 3 लाख रुपये खर्च कर सकते हैं।

सर्जरी के बाद ही इंजेक्शन दिया जाता है। पिछले दो हफ्तों में, सरकार ने काले फंगल संक्रमण या म्यूकोर्मिकोसिस के उपचार में सबसे आवश्यक इंजेक्शन एम्फेटोरेसिन-बी को अपने नियंत्रण में ले लिया है।

मध्यप्रदेश चिकित्सालय


Latest Updates

No img

आईजी की पत्नी-साली को घर के नौकरों ने बनाया भोपाल में बंधक


No img

बढ़ती मंहगाई को देख चोरों ने के हुए हौसले बुलंद ताला तोड़ मशरूका ले उड़े!!


No img

देशभर में 100 दिन के दौरे से क्या शाह धो देंगे मोदी सरकार के पाप?


No img

MP Govt cancels recognition of nearly 200 nursing colleges


No img

त्योहारों के चलते इंदौर पुलिस ने दबोचे दो बदमाशों पर की NSA की कार्यवाही!!


No img

The water-logged streets of Ujjain, people express anger on administration


No img

Bhopal: State Cyber ​​Police conducts workshop with E-Commerce platforms, better co-ordination in crime investigation expected


No img

3 Naxalites killed in police encounter in Balaghat


No img

कोविड का भय भागते ही हुआ ऑनलाइन कैबिनेट का ख़ात्मा !


No img

Candidate dies during physical examination of Constable SAF in Jabalpur


No img

गम्भीर अपराधों में गिरफ्तारी की जगह जांच का हवाला देते अधिकारी !


No img

गोरे गाल पर रंग लाल लाल रे…….टेढ़ीमेढ़ी हो गई देख मेरी चाल रे…….


No img

मौत पर मौत: लाशों को लातों तले रौंदते यमराज को आख़िर किसने दावत दी?


No img

14 miscreants absconding, involved in rioting and vandalising properties arrested by Jabalpur Police


No img

Officers appointed for the inquiry committee investigating Bhopal National Herald property to be decided on Monday tomorrow