अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







1948 के शासन काल से प्रतिबंधित कट्टरवाद और हिंदुत्व आतंक से देश को पाखाना बनाने वाली RSS, बीजेपी के शीर्ष नेताओं को साथ ले भोपाल में करेगी बैठक

09 Sep 2017

no img

भोपाल। मध्यप्रदेश

आरएसएस (RSS) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिसका मुख्य उद्देश्य ही भारत की जड़ों को नोच खा, कट्टरवाद के कीड़े परत दर परत बिछा मूल देश को खोखला करने की फिराक से गठित हुई थी वह आज केंद्र सरकार बीजेपी के साथ मिलकर अपना वर्चीस्प आने वाले 2019 विधानसभा चुनावों में बनाने के उद्देश्य से भोपाल में रणनीति तैयार करेगी। आरएसएस (RSS) का इतिहास ही प्रतिबन्ध से शुरू होकर आज भी आरएसएस (RSS) के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल की सरकार द्वारा तिरंगा फिराने से प्रतिबंधित कर देना।

ब्रिटिश शासन के दौरान से आरएसएस पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और फिर बार बार स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार द्वारा RSS को कोई भी पार्टी ना घोषित कर प्रतिबन्ध लगाया गया। स्वतंत्रता के बाद पहली बार 1948 में जब एक पूर्व आरएसएस सदस्य के द्वारा पार्टी से मिलकर महात्मा गांधी की हत्या कर दी गयी थी तब सम्पूर्ण देश ने RSS का बहिष्कार कर पार्टी पर प्रतिबंध लगा दिया था, दूसरी बार इंदिरा गांधी के दौर के आपातकाल में (1975-77), 1992 में बाबरी मस्जिद के विध्वंस के समय और फिर RSS का इतिहास गन्दगी के दल दल में धसते चला गया। हाल ही में पार्टी के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल के एक स्कूल में राष्ट्रीय तिरंगा फिराने से प्रतिबन्ध लगा दिया गया था।

मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते चुनावों की तैयारियों पर मंथन के लिए अगले महीने राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ की बैठक भोपाल में होगी, इसमें खासतौर पर मध्‍य प्रदेश, गुजरात और हिमाचल में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बातचीत होगी, रणनीति बनेगी, जिसमें संघ और बीजेपी के शीर्ष नेता शिरकत करेंगे।

इसके लिए 13 से 15 अक्टूबर की तारीख तय की गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में मोहन भागवत, अमित शाह समेत कई पार्टी के मुख्य प्रचारक और नेता शिरकत करेंगे।

आमतौर पर विधानसभा या लोकसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। संघ का लंबा-चौड़ा नेटवर्क चुनावों के लिए विवादित मुद्दों को छेड़ देश मे असाम्प्रदायिक माहौल बनाता है। यही काम आने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी होना है।

मध्यप्रदेश


Latest Updates

No img

Book fair in Bhopal’s Hindi Bhawan attracts book lovers, 1 lakh people estimated to come till 25th July


No img

Congress workers arrested for trying to show black flags to CM Shivraj Singh Chouhan’s convoy in Jabalpur today


No img

Damoh: CM Shivraj faces protest over not imposing lockdown when continous cases of Corona are to be found in the city


No img

Alone 89 corona cases from Bhopal out of 197 cases from the state, 4 new positive patients found within 24 hours


No img

Scindia’s road show today in Gwalior, congress party workers to protest with black bands


No img

Bhopal police solves '65-yr old's murder mystery', mother & daughter killed the elderly over money dispute


No img

Top IAS Jitendra Narain, accused in sex-for-jobs case


No img

Sultania hospital to be shifted completely till 12th Sept to new Hamidia building, treatments to start


No img

बैंक में नटवरलालों ने एक लाख के असली नोटों को बदल नखली थमा के हुए छू!


No img

SC ने चौकीदार को बताया बेदाग, माफी मांगे राहुल गांधी: रामेश्वर शर्मा


No img

65 वर्षीय बुजुर्ग को घर मे घुसकर उतारा मौत के घाट, हत्या कर आरोपी फ़रार!!


No img

Uma Bharti’s U-turn from her own statement of complete alcohol ban in MP, cancels protest


No img

मध्यप्रदेश विधानसभा: हिंदी के अलावा उर्दू-सँस्कृत भाषा में भी विधायकों ने ली शपथ!


No img

Shivraj government suspends officers incharge and Tehsildar over negligence in vaccination in Barwani and Tikamgarh


No img

रिश्वतख़ोरी का खलनायक ख़ाकीदारी टीआई के लेनदेन का ख़ुलासा!!