अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







तो क्या शिवराज को 'जन-धन' की बर्बादी का हक है?

22 Oct 2018

no img

भोपाल। आपने कभी किसी सरकार को यह कहते नहीं सुना होगा कि एक वर्ग (किसान) को लाभ पहुंचाने के लिए 'सैकड़ों करोड़ के सामान की बर्बादी होती है तो हो जाए', मगर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यह बात सीना ठोककर कह रहे हैं। उन्होंने यह बात लाखों टन प्याज सड़ने के संदर्भ में कहा।

शिवराज कहते हैं, "हम जानते थे कि प्याज खराब होगी, फिर भी सरकार ने आठ लाख टन से ज्यादा प्याज खरीदी। प्याज सड़ रही है तो सड़े, उसे किसान नहीं, सरकार फेंकेगी।"

राज्य में इस बार प्याज की बंपर पैदावार के चलते दामों में भारी गिरावट आई। इस पर सरकार ने किसानों से आठ रुपये किलो की दर से प्याज खरीदने का फैसला लिया। अब तक लगभग साढ़े आठ लाख टन प्याज की खरीदी हो चुकी है, उसमें बड़ी मात्रा में प्याज के खुले में रखे होने के कारण सड़ चुकी है और सड़ने का दौर जारी है।

प्याज खरीदी में गड़बड़ी और इंतजाम न होने पर प्याज के सड़ने के मामलों पर मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा, "किसानों की एक-एक प्याज खरीदी जाएगी, जब प्याज खरीदी का निर्णय लिया गया था तो यह बात सामने आई थी कि प्याज को कहां रखा जाएगा, कैसे बिकेगी, तब मैंने कहा था और अभी कह रहा हूं कि प्याज भले ही सड़ जाए, मगर किसानों को उनकी कीमत दी जाएगी, प्याज को किसान नहीं फेंकेगा, फेंकेगी तो सरकार फेंकेगी।"

इससे पहले राज्य के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने बताया कि अब तक साढ़े आठ लाख टन प्याज की खरीदी हो चुकी है, उसमें से बड़े पैमाने पर प्याज सड़ भी रही है। उन्होंने माना कि पिछले साल सरकार ने छह रुपये किलो प्याज खरीदी थी, जिस पर 100 करोड़ खर्च हुआ था, मगर एक करोड़ रुपया भी सरकार केा वापस नहीं आया था। तब भी प्याज खराब हुई थी। इस बार भी प्याज खरीदी में कई सौ करोड़ का नुकसान होने वाला है।

आम किसान यूनियन के केदार सिरोही कहते हैं, "प्याज खरीदी का लाभ किसान नहीं व्यापारियों को हुआ है, कुल खरीदी में मुश्किल से 10 से 20 प्रतिशत प्याज किसान की होगी। सरकार कभी भी यह ब्यौरा नहीं देती कि किस किसान से कितना माल खरीदा गया, वहीं 10 प्रतिशत नुकसान को 100 प्रतिशत बताकर आर्थिक गड़बड़ी कर देती है। प्याज के मामले में भी ऐसा ही हुआ है, पहले व्यापारियों को लाभ पहुंचाने प्याज खरीदी और अब सड़ने के नाम पर गड़बड़ियां की जा रही हैं।"

प्रदेश की पूर्व मुख्य सचिव निर्मला बुच का कहना है कि सरकार और नौकरशाही की यह जिम्मेदारी है कि वह निर्णय लेने से पहले सुरक्षित रखने का इंतजाम करती। प्याज जो सड़ रही है, नुकसान हो रहा है, वह तो करदाताओं द्वारा अदा की गई रकम है। यह जनता का पैसा है, लेकिन सरकार को इस बात की चिंता ही नहीं है कि यह पैसा किसका है।

सरकार एक तरफ किसानों के हित की बात कर रही है, तो दूसरी ओर अफसर, व्यापारी मिलकर प्याज को सड़ा बताकर कमीशन पर प्याज बेचकर सरकार को चूना लगा रहे हैं, इस बात का खुलासा भी हो चुका है। एक अफसर गिरफ्तार हुआ, तो दूसरे को सरकार ने निलंबित कर दिया। कई व्यापारी प्याज के कारोबार में करोड़पति बन चुके हैं।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सिर्फ सतना जिले में यह पता लगाने का सरकार से आग्रह किया था कि प्याज से कितनों ने करोड़ों कमाए हैं।

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव का कहना है कि वास्तव में किसान की प्याज खरीदी जाती तो अच्छा होता, मगर सरकार किसानों की आड़ में व्यापारियों की प्याज खरीदकर, कमीशन पर व्यापारियों को ही बेच रही है। वहीं बड़े पैमाने पर प्याज सड़ रही है।

उन्होंने कहा कि यह जनता का पैसा है और सरकार छाती ठोककर कह रही है कि प्याज सड़े तो सड़े! इस प्याज को गरीबों में मुफ्त में बांट दिया जाता तो बेहतर होता। इस खरीदी से किसान को कोई लाभ नहीं हुआ है।

याद रहे कि जब लाखों टन गेहूं सड़ने की बात आई थी, तब सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि इसे गरीबों में बांट दिया जाता तो बेहतर होता। मध्यप्रदेश की सरकार भी गरीबों को मुफ्त में प्याज बांट सकती थी, मगर ऐसा हुआ नहीं, क्योंकि प्याज खराब होने की आड़ में किसी को करोड़ों के वारे-न्यारे जो करने थे।

मध्यप्रदेश सियासत बीजेपी दफ़्तर जुर्मे वारदात घोटाले राज्य मुख्यमंत्री


Latest Updates

No img

Tamil delegates going to Varanasi surprises with traditional dance performance at Jabalpur Railway station, Ministry tweets


No img

कलेक्टर दफ़्तर के प्रांगण में, दो लाख की रिश्वत लेते रंगेहाथ धराया संयुक्त संचालक!!!


No img

50-yr old tree gets uprooted in heavy rains after which Bhopal’s Palash Residency was named


No img

Video surfaces from MP, girls dance with country made pistol; why should boys flaunt all rules?


No img

PM virtually addresses the training programme of newly appointed teachers held at CM House in Bhopal today


No img

IPS रश्मि शुक्ला के सर पर लटकी कार्यवाही की तलवार!


No img

Union Sports Minister Anurag Thakur in Bhopal today to attend 6th Elite Women's Boxing Championship finals


No img

Digvijay Singh and Congress Workers face FIR, police says Congress Workers along with Singh breached section 144


No img

Sweeper employed at government school of Bhopal rapes a 4th class kid


No img

भोपाल: देर रात कलेक्टर के आदेश के बाद हटाया गया कर्फ्यू; धरने प्रदर्शन और रैली पर रोक


No img

पत्रकार सिद्दीक कप्पन को सुप्रीमकोर्ट से मिली राहत! इलाज के लिए दिल्ली भेजने के आदेश!!


No img

24 yr old Bhopal youth dies while crossing railway tracks, police raises apprehension of using earphones which prevented him from hearing the sound of the train


No img

Bhopal crime branch nabs drug smuggling gang supplying in Mumbai, Afganistan-Bollywood links being investigated


No img

बलात्कारी थानेदार और लेडी कांस्टेबल नौटंकी में आया नया मोड़


No img

पुलिस भर्ती में फर्ज़ीवाड़ा करने वाले वर्दीधारी पर 10 साल बाद हुआ मुक़दमा दर्ज़!!