अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







अब हमीदिया में पनपते मंदिर-मस्जिद के विवाद को खत्म करने का वक़्त आ गया हैं

27 Nov 2019

no img

अनम इब्राहिम_

भोपाल। *राजधानी* के सबसे प्रचलित हमीदिया चिकित्सालय में बीते दिनों धार्मिक आस्था की आग इस हद तक भड़की थी जिससे शहर की शांति शर्म से पानी पानी हो उठी थी जहां सभी धर्मो के मानने वालों को तो धर्मिक आस्था खींचकर ले गयी थी परन्तु मौके पर वहां धर्म के ठेकेदार सब की सब नदारद रहे थे। जिस मंज़र को देख ऐसा महसूस हो रहा था जैसे शहर में धर्म गुरुओं के रहने के बावजूद भी सनातन व इस्लाम मज़हब के मानने वाले यतीमों की तरह बगैर बड़ो के मशवरों के सड़कों पर शहीद होने की मंशा से उतर आए हो और उन लावारिस यतीमों का शिकार प्रशासन ने दबोच—दबोच के जेल की कालकोठरी में भरकर कर दिया हो। जो भी हो धार्मिक गर्म तवों पर आस्था के दलाल अपना पिछवाड़ा रखे बगैर ही चिल्लाने लगे थे…अरे मेरी तो जल गई अरे मेरी तो जल गई_…. तो उन्हें यह बता दूँ कि भोपाल की जनता को धर्म के नाम पर अब और बरगलाना तनिक मुश्किल है। भैया उस विवादित स्थान पर सभी मज़हब के जुम्मेदारों की एक राय हो चुकी हैं और उसका हल भी शासन के साथ बैठकर निकाल लिया गया हैं।

_*मंदिर मस्जिद के तो गली गली में मौजूद हैं दर*_
_*अगर इंसान को इंसान समझता हैं तो मानवता के लिए कुछ कर*_

हमीदिया में वैसे ही तीन मस्जिद 4 मंदिर मौज़ूद हैं जहां पूजा करने व नमाज़ पढ़ने वालों की तादात ऊंट के मुँह में जीरे की तरह होती है उस पर एक और मुद्दई धर्म के आशियानें की पहल या पागलपन है या सोची समझी साजिश?

*_हर धर्म के बीमारों को मिले राहत_*
*_इलाजगाह बनाने में हम सब आगे आएं।_*

*अगर चिकत्सालय नहीं बना तो सुल्तानिया जनाना हमीदिया की जगह शहर के बाहर जंगल मे चला जाएगा।*

राजधानी के 2 ही चिकित्सालय सूबे भर के गरीब मज़लूम बीमार बेसहाराओं के लिए राहत के गढ़ बने हुए हैं उनमें सबसे उच्च स्थान पर हमीदिया चिकित्सालय आता हैं और दूसरे नम्बर पर महिलाओं की इलाजगाह कहे जाने वाला सुल्तानिया जनाना हॉस्पिटल हैं। शहर की बढ़ती आबादी के मद्देनज़र लाखों इंसानी लालों को जन्म देने वाला सुल्तानिया जनाना हॉस्पिटल वक़्त की जरूरत के हिसाब से हमीदिया हॉस्पिटल के कैम्प्स में शिफ्ट हो रहा है और सुल्तानिया की जगह जिला चिकित्सालय बनने वाला है। अगर धर्म के नाम से रोड़ा डालने वाले बीच मे आए तो शासन की मजबूरी होगी कि सुल्तानिया को 25 किलोमीटर शहर से दूर भेसाखेड़ी के आगे शासकीय भूमि पर पहुँचा दिया जाएगा।

*नुकसान*अगर सुल्तानिया हमीदिया की जगह शहर के बाहर की शासकीय भूमि पर जाता है तो लाखों ग़रीब गर्भवती माँ बहनों को डिलेवरी के लिए एक लंबा सफ़र तय करना होगा, नाजाने उनमे से कोई महिला हमारे घर की भी हो सकती हैं।

दोस्तो हिंदुस्तानी होने के हक़ को अदा करो आस्था के आशियानों के साथ साथ समाज को स्कूल चिकित्सालय की उत्तम व्यवस्था की भी हद से ज़्यादा ज़रूरत है। अपनी जान बचाना फ़र्ज़-ए-एन है और दूसरों की जान बचाना ईबादत का आला मक़ाम इसलिये इलाजगाह की बुनियाद रखने में आगे आए और एक अच्छे सच्चे जागरूक नागरिक का क़िरदार निभाए।

पढ़ते रहिए *Jansamparklife.com*

  •  

मध्यप्रदेश मज़हब हिन्दू मुस्लिम


Latest Updates

No img

Prior investigation of SIT reveals suicide, post created on Nishank’s phone, no tamper with mobile


No img

बार-बार प्रदेश कांग्रेस प्रदर्शनकारी पर भारी भोपाली खाकी के डंडाधारी!!


No img

मीडियाकर्मियों को कोरोना का टीका मुफ्त लगाने के लिए कमलनाथ ने लिखा प्रधानमंत्री को पत्र


No img

UP Politician’s killer arrested after 2 decades in MP’s Sehore, was settled in MP


No img

मध्यप्रदेश की राजधानी में लगा कर्फ्यू, यह क्षेत्र रहेंगे प्रभावित


No img

मप्र: बाल संप्रेक्षण गृह से भागे आठ बाल अपराधी


No img

शिकारिया का शिकार करती गुना पुलिस की टुकड़ी ने एक और किया एनकाउंटर!!


No img

Zila panchayat poll results today in MP, Congress ahead in Bhopal-Jabalpur


No img

कमिश्नर प्रणाली को बदनाम करता थाना शाहजहानाबाद: अपराधियों से गहरी साठ लेनदेन??


No img

BHEL worker’s huge demonstration in Bhopal’s Govindpura Area, MLA Krishna Gaur joins in


No img

बलात्कार पीड़िता के साथ फिर हुआ बलात्कार!!


No img

MP: Chief Municipal Officer suspended for negligence in government work


No img

Corona cases again increase in major cities of MP, Bhopal-Indore with higher rates


No img

गर्लफ्रेंड को पाने के लिए पत्नी को उतारा मौत के घाट


No img

Protest against film Pathaan instensifies in Madhya Pradesh, posters burnt and film stopped from screening in various theatres