अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







शिवराज ने कमलनाथ को कहा-खेत की मूली, जीतू पटवारी बोले-मान मर्यादा भूले शिवराज

07 Dec 2019

no img

भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सागर में गिरफ्तारी देने गए थे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा था कि ‘सुन लो कमलनाथ, हम इंदिरा जी से नहीं डरे, इमरजेंसी के समय जेलों में रहे, तुम किस खेत की मूली हो।’ उनके इस बयान का कांग्रेस विरोध कर रही है। इसी को लेकर कमलनाथ कैबिनेट के मंत्री जीतू पटवारी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि सत्ता से बेदखल होने की निराशा शिवराज के चेहरे पर दिखाई दे रही है, वे इस बात को भुना नहीं पा रहे कि वे अब मुख्यमंत्री नहीं हैं। वे जनता और अपनी पार्टी में अप्रासंगिक भी हो गये हैं, शायद इसीलिए अब उनको भाषा की मर्यादा का भान भी नहीं रहता। 

मंत्री पटवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के लिए ‘खेत की मूली’ जैसी अभद्र भाषा का प्रयोग करना बताता है कि उनकी सत्ता का स्तर क्या हो गया है। उन्होंने कहा कि जब शिवराज सत्ता में थे तो फसलों के दाम मांगने पर अन्नदाता किसानों के सीने में गोलियां उतार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया और जब सत्ता चली गई तो किसानों से प्रतिशोध की आग में आप जल रहे हैं और लगातार उनकी आजीविका पर आक्रमण कर रहे हैं। उन्होंने शिवराज सिंह चौहान से सवाल किया कि प्रदेश की जनता के लिए अगर आप इतने ही सच्चे हैं तो अभी धरना प्रदर्शन करिए, अपनी केंद्र सरकार के खिलाफ और जिन 28 सांसदों को प्रदेश ने जिताया है वह भी अपनी सरकार से प्रदेश को होने वाले सौतेले व्यवहार पर चर्चा क्यों नहीं करते। 

उन्होंने कहा कि शिवराज को अन्नदाता किसानों से बदला लेने की अपेक्षा मुख्यमंत्री कमलनाथ से सीख लेना चाहिए, उन्होंने हमेशा विपक्षीय दल होने के बावजूद केंद्र में मंत्री रहते हुए मप्र की अधोसंरचना विकास, अन्नदाता किसानों एवं आमजन की तरक्की के लिए कार्य किया और इतिहास साक्षी है और शिवराज खुद उनकी प्रशंसा करते हुए नहीं थकते थे। यदि आंदोलन करना है तो जनता के हित में करो, किसानों के हित में करो, केंद्र की भाजपा सरकार के सम्मुख धरना और गिरफ्तारी दीजिए और केंद्र सरकार से मध्यप्रदेश के किसानों के लिए न्याय की मांग कीजिए। इस धरना और गिरफ्तारी में आपका साथ देने के लिए हम तैयार हैं। लेकिन जनता और किसानों को गुमराह करना बहुत ही गलत है। 

मध्यप्रदेश किसान मुख्यमंत्री मंत्री विधायक राज्य


Latest Updates

No img

असिस्टेंट प्रोफेसरों का धरना, कहा-जब तक मांग पूरी नहीं हो जाती जारी रहेगी हड़ताल


No img

PS गोविंदपुरा: शादी का वादा कर युवती को बनाया हवस का शिकार


No img

तालीमगाह के तलबाओं को ईनाम से नवाजेंगे सूबे के वज़ीर!!


No img

टीआई जितेंद्र पाठक को सालगिराह का सलामती भरा सलाम


No img

PS शाहजहांनाबाद: *डीआईजी ने टीआई मनीष मिश्रा को दिखाया बाहर का रास्ता*


No img

प्रमोशन के लिए आदिवासियों को नक्सलवादी बनाने वाले एसपी का आतंकी क़िरदार हुआ सार्वजनिक!!!!


No img

मप्र पुलिस कर्मचारियों को फिर मिलेगा WEEKLY OFF, सरकार विधानसभा के अगले सत्र में विधिवत प्रस्ताव लाने की तैयारी में


No img

न्यायालय के फ़रमान को फ़ाड़, फरियादी के मुंह पर मारने वाले ADM को कलेक्टर शाबाशी देना चाहते है या सज़ा????


No img

शिवराज मामा लाएंगे क्रांति, 30 करोड़ का काढ़ा हुआ गाढ़ा !!!


No img

2018 नामक साल की हुई बेदर्दी से देर रात हत्या!!


No img

भोपाल: देर रात कलेक्टर के आदेश के बाद हटाया गया कर्फ्यू; धरने प्रदर्शन और रैली पर रोक


No img

कल इंतज़ार करेंगे प्रदेश के 6 हजार 655 मतदान केंद्र आप के आने का !!!


No img

मातृ वंदना योजना आख़िर क्या है? क्या दी प्रमुख सचिव अनुपम राजन ने जानकारी?


No img

नाकाम क्राइम ब्रांच: बुजुर्ग बिचौलि महिला को पुलिस ने किया गिरफ़्तार, असली आरोपी तक पहुंचने में असफ़ल


No img

पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह की बेटी हुई लापता!!!