अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







चाइना के बम फटाकों और फुलझड़ियों से अपने बच्चों की हिफाज़त करें!!!

no img

Breaking
जनसम्पर्क -life

चाइना गन की कारतूस का बंद पैकेट मासूम के नाज़ुक हाथो को कर गया घायल!!!

भोपालः थाना कोह-ए-फ़िज़ा क्षेत्र के लालघाटी इलाक़े में रहने वाले डॉक्टर वर्मा की मासूम daughter के नन्हे हाथ उस वक़्त घायल हो गए तब वो चाइना की पिस्टल में लगने वाले छर्रे का बंद पैकेट हाथ मे लेकर खेल रही थी तभी अचानक बंद पैकेट से एसिडनुमा लावा बाहर निकल आया जिसने मासूम के हाथों को जलाकर ज़ख्मी कर डाला।

इबरत

इस दिवाली लोगो को चाहिए कि अपने बच्चों को ख़तरनाक चाइना के बम फटाकों व फुलझड़ियों से दूरी बनाए रखने की हिदायत दे वरना बे-एहेतबर बारूदी खेल को अपनी आंखों के सामने अपने बच्चों को खिलाएं जिससे की अनजाने हादसों से जूझने के लिए हम तैयार रह सके।

मध्यप्रदेश हिंदुस्तान


Latest Updates

No img

उमा शंकर गुप्ता ने कमलनाथ की लंबी उम्र की कामना की, आरोपों की झड़ी भी लगाई


No img

अधूरे लिबाज़ में आधा नंगा बदन लिए फ़रियादी बन पहुचे पढ़े -लिखे गवार राजधानी!!


No img

इंदौर पुलिस के हाथ लगी महिला क्रिकेटर्स पर दाव लगाने वाली ऑनलाइन सट्टेबाजो कि गैंग!!!


No img

नाहर कारख़ाने की मुलाज़िम महिलाओ से भरी बस पलटी!!!


No img

दिन दहाड़े गुज़री क़त्ल की वारदात, भतीजे ने चाचा को उतारा मौत के घाट!!!


No img

कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी की Name-Plate में लिखा नाम उर्दू में हुआ अब दुरूस्त!!!


No img

चाइना के बम फटाकों और फुलझड़ियों से अपने बच्चों की हिफाज़त करें!!!


No img

या मौला रात हो गयी


No img

श्रीनगर: आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फेंका ग्रेनेड, एक नागरिक की गई जान


No img

ग़रीब घरों को है खाने की ज़रूरत।है कोई रमज़ान में सदक़ा ज़कात देकर मदद करने वाला ???


No img

मतदान खत्म होते ही चुनावी चादर के बाहर आए बीजेपी-कांग्रेस के अंदरूनी रिश्ते


No img

PS गोविंदपुरा: शादी का वादा कर युवती को बनाया हवस का शिकार


No img

आधी रात को बरपा हंगामा ह्त्या के बाद हुआ सन्नाटे में तब्दील!!


No img

लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है। रविवार को सीएम कमलनाथ के करीबियों के घर छापा मार कार्रवाई की गई थी। जिसमें


No img

राजधानी की शासकीय भूमि पर अवैध कब्ज़े के लिए कौन जिम्मेदार?