अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







किसानों के नाम पर राजनैतिक रोटियां सैंक रहे शिवराज: पटवारी

20 Dec 2019

no img

भोपाल। मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने किसानों को गोलियों से भून दिया, उन्होंने 5 हजार किसानों पर मुकदमे लगाए और अब किसानों के लिए घड़ियाल आंसू बहा रहे हैं। अगर घड़ियाली आंसू बहाओगे तो मध्यप्रदेश का किसान आने वाले वक्त में आपका और विरोध करेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के नाम पर शिवराज केवल राजनैतिक रोटियां सैंकने में लगे हैं। उन्होंने कहा कमलनाथ सरकार किसानों को बीमा राशि, अति वर्षा से नुकसान का मुआवजा देगी। हम अपने हर वचन को निभाएगे, और सरकार इसी काम में लगी हुई है। बता दें कि किसानों के मुआवजा, यूरिया खाद को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदर्शन किया था, जिसके बाद से वह कांग्रेस के निशाने पर आ गए हैं।

मध्यप्रदेश मंत्री राज्य


Latest Updates

No img

अब इज़्तिमे के नाम पर नही भरेगा ताजुल मसाजिद के पास मेला!!!


No img

SC ने चौकीदार को बताया बेदाग, माफी मांगे राहुल गांधी: रामेश्वर शर्मा


No img

पीसी शर्मा ने CAB और यूरिया को लेकर केंद्र पर साधा निशाना


No img

सिंहस्थ में भ्रष्टाचार की खुली परतें, कांग्रेस मंत्री बोले-कार्रवाई भी होगी और गिरफ्तारी भी, वसूली भी करेंगे


No img

भोपाल का अधिकारी दिल्ली में रिश्वत लेते पकड़ाया


No img

PS जहांगीराबाद: जेल प्रहरी पिता 6 साल से बेटी के साथ कर रहा था रेप


No img

ससुर-बहु की लव स्टाेरी का दर्दनाक अंत, प्रेमी ने ले ली प्रेमिका की जान


No img

लोधी पहुंचे विधानसभा, कल तक के​ लिए सदन स्थगित


No img

PS टीलाजमालपुरा: तीन साल से फरार वाहन चोर नरसिंहपुर से गिरफ्तार


No img

NRC बिल को लेकर क्या बोले मंत्री शर्मा....


No img

PS शाहपुरा: शराब कारोबारी ने हड़पे लाखों रूपए, मामला दर्ज


No img

ननि और नपा चुनाव में कांग्रेस ही करेगी जीत दर्ज: इमरती देवी


No img

मांडू उत्सव 28 दिसंबर से, पर्यटन मंत्री बोले-टूरिज्म से रोजगार देने का कर रहे प्रयास


No img

लम्बे वक़्त के बाद जनसम्पर्क विभाग में फिर हुआ नियुक्त कामचलाऊ IAS अफ़सर!!


No img

शिवराज की सरकार को चेतावनी, समस्याएं हल करो...वरना होगा आंदोलन