अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







अब हमीदिया में पनपते मंदिर-मस्जिद के विवाद को खत्म करने का वक़्त आ गया हैं

27 Nov 2019

no img

अनम इब्राहिम_

भोपाल। *राजधानी* के सबसे प्रचलित हमीदिया चिकित्सालय में बीते दिनों धार्मिक आस्था की आग इस हद तक भड़की थी जिससे शहर की शांति शर्म से पानी पानी हो उठी थी जहां सभी धर्मो के मानने वालों को तो धर्मिक आस्था खींचकर ले गयी थी परन्तु मौके पर वहां धर्म के ठेकेदार सब की सब नदारद रहे थे। जिस मंज़र को देख ऐसा महसूस हो रहा था जैसे शहर में धर्म गुरुओं के रहने के बावजूद भी सनातन व इस्लाम मज़हब के मानने वाले यतीमों की तरह बगैर बड़ो के मशवरों के सड़कों पर शहीद होने की मंशा से उतर आए हो और उन लावारिस यतीमों का शिकार प्रशासन ने दबोच—दबोच के जेल की कालकोठरी में भरकर कर दिया हो। जो भी हो धार्मिक गर्म तवों पर आस्था के दलाल अपना पिछवाड़ा रखे बगैर ही चिल्लाने लगे थे…अरे मेरी तो जल गई अरे मेरी तो जल गई_…. तो उन्हें यह बता दूँ कि भोपाल की जनता को धर्म के नाम पर अब और बरगलाना तनिक मुश्किल है। भैया उस विवादित स्थान पर सभी मज़हब के जुम्मेदारों की एक राय हो चुकी हैं और उसका हल भी शासन के साथ बैठकर निकाल लिया गया हैं।

_*मंदिर मस्जिद के तो गली गली में मौजूद हैं दर*_
_*अगर इंसान को इंसान समझता हैं तो मानवता के लिए कुछ कर*_

हमीदिया में वैसे ही तीन मस्जिद 4 मंदिर मौज़ूद हैं जहां पूजा करने व नमाज़ पढ़ने वालों की तादात ऊंट के मुँह में जीरे की तरह होती है उस पर एक और मुद्दई धर्म के आशियानें की पहल या पागलपन है या सोची समझी साजिश?

*_हर धर्म के बीमारों को मिले राहत_*
*_इलाजगाह बनाने में हम सब आगे आएं।_*

*अगर चिकत्सालय नहीं बना तो सुल्तानिया जनाना हमीदिया की जगह शहर के बाहर जंगल मे चला जाएगा।*

राजधानी के 2 ही चिकित्सालय सूबे भर के गरीब मज़लूम बीमार बेसहाराओं के लिए राहत के गढ़ बने हुए हैं उनमें सबसे उच्च स्थान पर हमीदिया चिकित्सालय आता हैं और दूसरे नम्बर पर महिलाओं की इलाजगाह कहे जाने वाला सुल्तानिया जनाना हॉस्पिटल हैं। शहर की बढ़ती आबादी के मद्देनज़र लाखों इंसानी लालों को जन्म देने वाला सुल्तानिया जनाना हॉस्पिटल वक़्त की जरूरत के हिसाब से हमीदिया हॉस्पिटल के कैम्प्स में शिफ्ट हो रहा है और सुल्तानिया की जगह जिला चिकित्सालय बनने वाला है। अगर धर्म के नाम से रोड़ा डालने वाले बीच मे आए तो शासन की मजबूरी होगी कि सुल्तानिया को 25 किलोमीटर शहर से दूर भेसाखेड़ी के आगे शासकीय भूमि पर पहुँचा दिया जाएगा।

*नुकसान*अगर सुल्तानिया हमीदिया की जगह शहर के बाहर की शासकीय भूमि पर जाता है तो लाखों ग़रीब गर्भवती माँ बहनों को डिलेवरी के लिए एक लंबा सफ़र तय करना होगा, नाजाने उनमे से कोई महिला हमारे घर की भी हो सकती हैं।

दोस्तो हिंदुस्तानी होने के हक़ को अदा करो आस्था के आशियानों के साथ साथ समाज को स्कूल चिकित्सालय की उत्तम व्यवस्था की भी हद से ज़्यादा ज़रूरत है। अपनी जान बचाना फ़र्ज़-ए-एन है और दूसरों की जान बचाना ईबादत का आला मक़ाम इसलिये इलाजगाह की बुनियाद रखने में आगे आए और एक अच्छे सच्चे जागरूक नागरिक का क़िरदार निभाए।

पढ़ते रहिए *Jansamparklife.com*

  •  

मध्यप्रदेश मज़हब हिन्दू मुस्लिम


Latest Updates

No img

मध्यप्रदेश विधानसभा: हिंदी के अलावा उर्दू-सँस्कृत भाषा में भी विधायकों ने ली शपथ!


No img

न्यू ईयर के लिए तैयार हो गए शहर में अय्यासी के अड्डे!!


No img

आर्थिक तंगी के चलते कारोबारी ने बच्चों की हत्या कर पत्नी, मैनेजर के साथ बिल्डिंग से कूदकर दी जान


No img

RUN BHOPAL RUN: दौड़ते शहर के साथ भागे विधायक,मसूद और मंत्री शर्मा!!


No img

प्यारे मियां यौन शौषण मामले की पीड़िता ने बालिका गृह में खाई नींद कि गोलियां, पीड़िता वेंटिलेटर पर


No img

होटल में दंपत्ति ने दो बच्चों सहित खाया जहर, दंपत्ति की मौत


No img

B’Day Wishes: ASP क्राइम निश्चल झारिया को सालगिराह के मौक़े पर सलामती भरा सलाम!!


No img

शहर के शाही दरबार जहांनुमा में नाथ कर रहे है निवेशक मुखियाओं का हौसला अफ़ज़ाई


No img

उज्जैन DIG रमनसिंह सिकरवार को सालगिराह की दिली मुबारक़बाद !!!!


No img

मध्यप्रदेश में IAS अधिकारी केंद्र में पलायन करने की तैयारी में जुटे, वजह मंत्रियों का व्यवहार


No img

शासकीय स्कूल में ज़ंजीरों से बांध युवक को आग से धड़काकर किया ख़ाक!!!


No img

India: Corona patients in the country steadily increasing, more than 5% positive rate


No img

Ps MP नगर: सलाखों के पीछे जाने से पहले बेवफ़ा आशिक़ हुआ छू!!!!


No img

मप्र: डॉक्टर को लगा था कल वैक्सीन, आज हो गए कोरोना पॉजिटिव; विधायक-कलेक्टर आए थे सम्पर्क में


No img

सालगिराह के जश्न में बिन बुलाए मेहमान बना फॉरेस्ट का दस्ता!