अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







।सिन्धियों के वोट सिखाएंगे रामेश्वर को सबक।।

18 Oct 2019

no img

अनम इब्राहिम

सिंधी समाज की विरोधी ललकार को सुन फुले शिवराज के भी हाथपेर!!

भोपाल: जात के नाम पर सियासत करके बीजेपी के जो अब कट्टरपंथी मंत्री सरकार के डिब्बों में सवार थे। इस बार प्रदेश की जनता उन्हें हार के प्लेटफ़ॉर्म पर उतार फेंकेगी।

जनसम्पर्कlife

ऐसा ही एक कट्टरवादी विधायक रामेश्वर शर्मा भोपाल नगरी में भी मौज़ूद है जिसने धर्म को सीढ़िया बनाकर सियासत का सफल सफर शुरू किया लेकिन इस भोपाली विधायक के दिल में क्या है वो अक्सर ईश्वर इस के मुंह से निकलवा ही देते है।
जी हां, सिन्धी समाज की मज़हबी आस्था को ठेस पहुँचाने वाला ये वो ही विधायक है जो खुले मंच पर पाकिस्तान की क़ामयाबी की दुआ मांग रहा था।

जनसम्पर्कlife

मध्यप्रदेश में बीजेपी कांग्रेस के कई नेता ऐसे है जो सियासत में सफ़लता का अपहरण करने के लिए धर्म की दलाली कर खुद को दिखावे के देवता दर्शाते दर्शाते नही थकते उनमें से भाजपा के गन्दी जुबां रखने वाले विधायक रामेश्वर शर्मा भी शामिल है जो हमेशा धर्म की दीवार खड़ा कर के सियासत करने के आदि है। वैसे तो विधायक महोदय करोड़ो के होर्डिंग पोस्टर लगा कर खुद को कावड़ यात्रा के नाम पर सनातन धर्म की वाह-वाही लूटते है लेकिन बेचारे पैदल चलने वाले कावड़ियों के लिए रास्तो पर भोजन की व्यवस्था भी नही करवाते। रामेश्वर की जुबान का ज़हर अन्य धर्मों के लिए ही नही निकलता बल्कि उनकी जुबां पर इतनी गन्दी है कि ‘माँ के लोडे बहन के लोडे’ जैसे लफ्ज़ बार बार दोहराते है। पिछले साल तो रामेश्वर की ज़ुबान ऐसी फिसली कि अर्थ का अनर्थ हो गया था। सुनने वाले सकपका गए थे दरअसल रामेश्वर को उनकी ज़ुबान ने ही धोका दे दिया था वो भावुक होकर सच बोल पड़े की पाकिस्तान का नाम वो कश्मीर से कन्याकुमारी तक चाहते हैं। साथ ही रामेश्वर ने पाकिस्तान के लिए मंच पर दुआ भी मांग ली थी लेकिन बाद में जुबान के फिसल जाने का बहाना करने लगे। यही नही रामेश्वर शर्मा का तो विवादों से पुराना नाता है। बड़बोले होने के कारण वे अक्सर विवादों में आ ही जाते हैं। हाल ही में सच्चे भारत वासी सिन्धियों की रामेश्वर ने धार्मिक आस्था को ठेस पहुँचाई है जिस के विरोध में आज पूरा सिन्धी समाज सड़को पर उत्तर आया है जिसे देख खुद शिवराज के भी हाथ-पैर फूल गए है। वक़्त रहते शिवराज को अपनी सियासी साख बचाना चाहिए और रामेश्वर को बीजेपी से बाहर का रास्ता दिखा देना चाहिए वरना आगे ऐसे आस्तीन के सांपो के ज़हर से पार्टी तो दम तोड़ेंगी ही। इस तरह के कट्टरवादी विचारधारा रखने वालों के विरुद्ध पुलिस को भी कार्यवाही वाला रवैया इख़्तेयार कर लेना चाहिए जिससे कि शांति अमन भाईचारा शहर में क़ायम रह सके।

मध्यप्रदेश सियासत


Latest Updates

No img

PS अशोका गार्डन: शादी का झांसा देकर युवती की आबरू से खिलवाड़


No img

शहर के शाही दरबार जहांनुमा में नाथ कर रहे है निवेशक मुखियाओं का हौसला अफ़ज़ाई


No img

शिवराज के धरने को पीसी शर्मा ने बताया नौटंकी


No img

मप्र: अनाज के ट्रक चोरी करने वाले तीन बदमाश गिरफ्तार, 22 लाख का माल बरामद


No img

पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह की बेटी हुई लापता!!!


No img

सूनसान जगह चल रहा था दूध का काला कारोबार, क्राइम ब्रांच ने नकली दूध का टैंकर पकड़ा


No img

PS एमपी नगर: घर बुलाकर युवक ने किया महिला के साथ बलात्कार, दोस्त ने की छेड़छाड़


No img

झाबुआ पहुँच उप चुनाव में प्रदेशभर के कांग्रेसी नेता करवा रहे है अपनी मौज़ूदगी दर्ज़!!


No img

आईफा अवार्ड के आयोजन से मप्र को मिलेगी दुनिया में नई पहचान


No img

आतंकियों ने सीआरपीएफ और पुलिस पर फेंका ग्रेनेड, 6 जवान घायल


No img

बिजली के बिलों की माला पहनने वाली बुजुर्ग महिला ने खोली भाजपा की पोल


No img

भोपाल जोन आईजी पद से जयदीप जुदा हुए तो देशमुख ने दी दस्तक!!!


No img

PHQ के CID ब्रांच में बतौर निरीक्षक के पद पर मौज़ूद ममता सिंह का उपचार के दौरान हुआ निधन!!


No img

नाकाम क्राइम ब्रांच: बुजुर्ग बिचौलि महिला को पुलिस ने किया गिरफ़्तार, असली आरोपी तक पहुंचने में असफ़ल


No img

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लगाई अफवाह पर रोक- आदिवासी की ज़मीन नहीं खरीद सकते गैर आदिवासी या सामान्य लोग