अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







राजधानी को अमन चैन एकता भाईचारे का लिहाफ़ ओढ़ाने वाले एसपी अरविंद सक्सेना अब होशंगाबाद को नवाज़ रहे हैं वर्दी की फुर्ती

no img

इटारसी। शहर की कमान सम्भालते ही होशंगाबाद के एसपी अरविंद सक्सेना ने कलेक्टर के साथ मिलकर जहा एक तरफ देर रात तक रेत माफियाओ को खौफ के साए में ला खड़ा किया वही दूसरी ओर राजधानी की तरह होशंगाबाद में भी कप्तान अरविंद सक्सेना की खूबी पूरे ज़िले में खुशबू की तरह महकती नज़र आ रही हैं। गुरूवार को एसडीओपी कार्यालय का निरीक्षण करने आए एसपी ने एसडीओपी से टेबल वर्क को त्याग फील्ड पर ज़्यादा वक्त बिताने को कहा। बारीकी से हर एक पहलू का मुआइना करते हुए कप्तान ने सभी पुराने गंभीर अपराधों पर अपनी कड़ी नजर जमाते हुए 550 में से केवल 5 गम्भीर मामलों में जाँच पाई जिसकी वजह से उन्होंने लापरवाही को नज़रअंदाज़ ना करते हुए प्रकरणों की जांच में पाया कि अधिकांश गंभीर अपराधों में सिर्फ फरियादियों के अनुसार रिपोर्ट लिखी गई है, कहीं भी मौका निरीक्षण या गवाहों से बात नहीं की गई। अन्य कॉलम खाली देख एसपी ने फील्ड पर जाने के आदेश दिए और प्रकरणों की गंभीरता से जांच करने के आदेश दिए और लापरवाही देख यह भी आदेश किए की कोई भी गम्भीर अपराधो की जांच सहायको से नही करवाई जाए जिससे यह पूर्ण यरह से फिर साबित होता हैं कि कप्तान अरविंद सक्सेना की जिंदादिली और वर्दी में फुर्ती अब पूरे होशंगाबाद पुलिस महकमे को पुलिस प्रशासन को अव्वल दर्जे पर ला खड़ा कर देगी।

लापरवाही और आलस पर दंड

एसपी ने ब्रिज पर खड़ी एफआरबी में बैठे एसआई से कहा कि 11 लाख की गाड़ी सुरक्षा के लिए दी है, इसे ऑपरेट करना जानते तो जिसपर एसआई के द्वारा 11 महीने बाद रिटायर्ड होने का बहाना बनाकर अपनी ज़िम्मेदारी से बचने और लापरवाही को छुपाने के प्रयास गया जिसके चलते एसपी ने इस लापरवाही पर सिपाही की निंदा एवं एसआई पर 500 रुपए का जुर्माना ठोका है।

लापरवाही और गड़बड़ी करने वाले सिपाहियों की करे शिकायत

एसपी ने निरीक्षण में पाया कि डिवीजन के पुलिस अधिकारियों और आरक्षकों को ईनाम देने के लिए कई बार नाम चयनित किए जाते हैं और उनकी सिफारिशें भी लगाई जाती हैं लेकिन लापरवाही और गड़बड़ी करने वाले सिपाहियों के खिलाफ एक भी बार दंड की अनुशंसा नहीं हुई। एसपी ने एसडीओपी को आदेश दिए कि थानों के पूर्ण तरह से निरक्षण तो हो पर उसके साथ साथ सिपाहियों की अनुपस्तिथि के बारे में भी संतोषजनक परिणाम देना अनिवार्य हैं। क्या सारे पुलिसकर्मी ईमानदारी से काम कर रहे हैं?

लिस्ट में अपडेट हो सभी अपराधी तत्वों के नाम

डिवीजन की गुंडा एवं निगरानी लिस्ट में अपराधी तत्वों के नाम न जोड़ने पर एसपी ने कहा कि आप लगातार अपराधियों पर कार्रवाई करें। इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। थाने का कोई भी पुलिसकर्मी अवैध वसूली या ट्रकों के पीछे तो नहीं भाग रहा है, इसकी निगरानी आप स्वयं करें।

निर्देश दिए हैं:

इटारसी अनुविभाग का काम औसत दर्जे का मिला है। अफसरों ने फील्ड पर जाकर काम नहीं किया। कई गंभीर प्रकरण पेडिंग हैं। सहायकों से प्रकरणों की जांच कर खानापूर्ति की गई है। हमने एसडीओपी को फील्ड पर जाने के सख्त निर्देश दिए हैं। किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ अनुचित शिकायत मिली तो उसे बर्दाश्त नहीं करेंगे
अरविन्द सक्सेना, पुलिस अधीक्षक।

मध्यप्रदेश अफ़सर-ए-ख़ास अन्य शहर की शख़्सियत


Latest Updates

No img

बजाज परिवार न अंग्रेजों से डरा न मोदी सरकार से: पीसी शर्मा


No img

PS बैरसिया: खेत जा रही किशोरी के साथ पड़ोसी ने की छेड़छाड़, गिरफ्तार


No img

ब्लेक लिस्ट से बचने के लिए पाकिस्तान ने इमरान के दौरे से पहले किया हाफ़िज़ सईद को गिरफ्तार


No img

नाहर कारख़ाने की मुलाज़िम महिलाओ से भरी बस पलटी!!!


No img

PS अशोका गार्डन: शादी का झांसा देकर युवती की आबरू से खिलवाड़


No img

ठंड से बुजुर्ग महिला की गई जान, प्रशासन नगर निगम पर उठे सवाल


No img

छग: घर के बाहर खेल रहे व्यापारी के बेटे को अगवा करने वाले गिरफ्तार


No img

घटनाओं से सबक लेने के बजाए नई घोषणाएं कर रही सरकार: विश्वास सारंग


No img

भानू भूरिया योग्य हैं...वहीं जीतेंगे उपचुनाव: नरोत्तम मिश्रा


No img

सेक्सी सास और मनचले दामाद का नाज़ायज़ रिश्ता बना मौत का सबब!


No img

राजधानी को अमन चैन एकता भाईचारे का लिहाफ़ ओढ़ाने वाले एसपी अरविंद सक्सेना अब होशंगाबाद को नवाज़ रहे हैं वर्दी की फुर्ती


No img

Ps कोहेफिज़ा: दिन एक, अपराध अनेक!


No img

PCC कांग्रेस सरकार का प्रचार छोड़ मीडिया उपाध्यक्ष मोदी सरकार पर बना रहे आर्टिकल!!!


No img

ADG - IG आदर्श कटियार ने क़िया पुराने दफ़्तर का वार्षिक निरीक्षण!!


No img

ज़िंदगी मे ख्वाइशें, आरज़ू,तमन्ना अगर कार बंगला बैंक बैलेंस की हो तो ज़िन्दगी से कोई शिकवा नही लेकिन अगर किसी