अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







1948 के शासन काल से प्रतिबंधित कट्टरवाद और हिंदुत्व आतंक से देश को पाखाना बनाने वाली RSS, बीजेपी के शीर्ष नेताओं को साथ ले भोपाल में करेगी बैठक

28 Nov 2019

no img

भोपाल। मध्यप्रदेश

आरएसएस (RSS) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिसका मुख्य उद्देश्य ही भारत की जड़ों को नोच खा, कट्टरवाद के कीड़े परत दर परत बिछा मूल देश को खोखला करने की फिराक से गठित हुई थी वह आज केंद्र सरकार बीजेपी के साथ मिलकर अपना वर्चीस्प आने वाले 2019 विधानसभा चुनावों में बनाने के उद्देश्य से भोपाल में रणनीति तैयार करेगी। आरएसएस (RSS) का इतिहास ही प्रतिबन्ध से शुरू होकर आज भी आरएसएस (RSS) के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल की सरकार द्वारा तिरंगा फिराने से प्रतिबंधित कर देना।

ब्रिटिश शासन के दौरान से आरएसएस पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और फिर बार बार स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार द्वारा RSS को कोई भी पार्टी ना घोषित कर प्रतिबन्ध लगाया गया। स्वतंत्रता के बाद पहली बार 1948 में जब एक पूर्व आरएसएस सदस्य के द्वारा पार्टी से मिलकर महात्मा गांधी की हत्या कर दी गयी थी तब सम्पूर्ण देश ने RSS का बहिष्कार कर पार्टी पर प्रतिबंध लगा दिया था, दूसरी बार इंदिरा गांधी के दौर के आपातकाल में (1975-77), 1992 में बाबरी मस्जिद के विध्वंस के समय और फिर RSS का इतिहास गन्दगी के दल दल में धसते चला गया। हाल ही में पार्टी के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल के एक स्कूल में राष्ट्रीय तिरंगा फिराने से प्रतिबन्ध लगा दिया गया था।

मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते चुनावों की तैयारियों पर मंथन के लिए अगले महीने राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ की बैठक भोपाल में होगी, इसमें खासतौर पर मध्‍य प्रदेश, गुजरात और हिमाचल में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बातचीत होगी, रणनीति बनेगी, जिसमें संघ और बीजेपी के शीर्ष नेता शिरकत करेंगे।

इसके लिए 13 से 15 अक्टूबर की तारीख तय की गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में मोहन भागवत, अमित शाह समेत कई पार्टी के मुख्य प्रचारक और नेता शिरकत करेंगे।

आमतौर पर विधानसभा या लोकसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। संघ का लंबा-चौड़ा नेटवर्क चुनावों के लिए विवादित मुद्दों को छेड़ देश मे असाम्प्रदायिक माहौल बनाता है। यही काम आने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी होना है।

मध्यप्रदेश सियासत बीजेपी दफ़्तर अन्य दफ़्तर राज्य


Latest Updates

No img

क्लेक्टर के फ़रमान पर क्या अमल करेंगें पेट्रोलपंप व निर्माण कार्य संचालक??


No img

काज़ी कैंप: राजधानी में रात का बाज़ार कभी बन्द हो सकता है?


No img

थाना बैरसिया पुलिस अपहरण कर चार दिनों से युवक को बंधक बना कर रही हैं धुक्कस पिटाई!!!


No img

या मौला रात हो गयी


No img

आज़ाद हिन्दुस्तां तुझ को राष्ट्रवादी मुल्ला का सलाम


No img

राजधानी की शासकीय भूमि पर अवैध कब्ज़े के लिए कौन जिम्मेदार?


No img

PHQ स्‍पेशल DG विजय यादव के सर चढ़ी गोल्फ किंग की ताजपोशी!!


No img

क्या विधायक विश्वास सारंग ने ही दिग्विजय के पोस्टर लगवाए थे???


No img

मध्य-भोपाल से मम्मा या मसूद?


No img

इंदौर पुलिस के हाथ लगी महिला क्रिकेटर्स पर दाव लगाने वाली ऑनलाइन सट्टेबाजो कि गैंग!!!


No img

भोपाल गैस पीड़ितों ने मध्यप्रदेश सरकार पर लगाए गंभीर आरोप, वर्तमान मालिक डाव से साठ गांठ के भी आरोप


No img

क्या आप के मौहल्ले में भी है चकला???


No img

B’Day Wishes: ASP क्राइम निश्चल झारिया को सालगिराह के मौक़े पर सलामती भरा सलाम!!


No img

मप्र: मंत्री ना बनाने से बसपा विधायक नाराज़ तो अपने क्षेत्र में मनचाहे तबादले नही होने से हीरालाल नही पहुँचे बैठक में


No img

हनीट्रैप मामले में भोपाल पुलिस पर लगे गम्भीर आरोप, क्राइम ब्रांच में 2 महीने पहले की गई थी शिकायत दर्ज