अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







1948 के शासन काल से प्रतिबंधित कट्टरवाद और हिंदुत्व आतंक से देश को पाखाना बनाने वाली RSS, बीजेपी के शीर्ष नेताओं को साथ ले भोपाल में करेगी बैठक

28 Nov 2019

no img

भोपाल। मध्यप्रदेश

आरएसएस (RSS) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिसका मुख्य उद्देश्य ही भारत की जड़ों को नोच खा, कट्टरवाद के कीड़े परत दर परत बिछा मूल देश को खोखला करने की फिराक से गठित हुई थी वह आज केंद्र सरकार बीजेपी के साथ मिलकर अपना वर्चीस्प आने वाले 2019 विधानसभा चुनावों में बनाने के उद्देश्य से भोपाल में रणनीति तैयार करेगी। आरएसएस (RSS) का इतिहास ही प्रतिबन्ध से शुरू होकर आज भी आरएसएस (RSS) के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल की सरकार द्वारा तिरंगा फिराने से प्रतिबंधित कर देना।

ब्रिटिश शासन के दौरान से आरएसएस पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और फिर बार बार स्वतंत्रता के बाद भारत सरकार द्वारा RSS को कोई भी पार्टी ना घोषित कर प्रतिबन्ध लगाया गया। स्वतंत्रता के बाद पहली बार 1948 में जब एक पूर्व आरएसएस सदस्य के द्वारा पार्टी से मिलकर महात्मा गांधी की हत्या कर दी गयी थी तब सम्पूर्ण देश ने RSS का बहिष्कार कर पार्टी पर प्रतिबंध लगा दिया था, दूसरी बार इंदिरा गांधी के दौर के आपातकाल में (1975-77), 1992 में बाबरी मस्जिद के विध्वंस के समय और फिर RSS का इतिहास गन्दगी के दल दल में धसते चला गया। हाल ही में पार्टी के मुख्य प्रचारक मोहन भागवत को केरल के एक स्कूल में राष्ट्रीय तिरंगा फिराने से प्रतिबन्ध लगा दिया गया था।

मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते चुनावों की तैयारियों पर मंथन के लिए अगले महीने राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ की बैठक भोपाल में होगी, इसमें खासतौर पर मध्‍य प्रदेश, गुजरात और हिमाचल में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर बातचीत होगी, रणनीति बनेगी, जिसमें संघ और बीजेपी के शीर्ष नेता शिरकत करेंगे।

इसके लिए 13 से 15 अक्टूबर की तारीख तय की गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में मोहन भागवत, अमित शाह समेत कई पार्टी के मुख्य प्रचारक और नेता शिरकत करेंगे।

आमतौर पर विधानसभा या लोकसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाता है। संघ का लंबा-चौड़ा नेटवर्क चुनावों के लिए विवादित मुद्दों को छेड़ देश मे असाम्प्रदायिक माहौल बनाता है। यही काम आने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी होना है।

मध्यप्रदेश सियासत बीजेपी दफ़्तर अन्य दफ़्तर राज्य


Latest Updates

No img

भाजपा लेकर आई थी 'लूट सको तो लूट लो योजना': कुणाल चौधरी


No img

2018 नामक साल की हुई बेदर्दी से देर रात हत्या!!


No img

होटल में दंपत्ति ने दो बच्चों सहित खाया जहर, दंपत्ति की मौत


No img

55 वर्ष के गुमशुदा प्रॉपर्टी डीलर पति को पत्नी ने पकड़ा माशूका के साथ!!


No img

अब तक DIG इरशाद वली ने शहर की सुरक्षा व्यवस्थाओं में कितना लाया सुधार?!


No img

Ps MP नगर: सलाखों के पीछे जाने से पहले बेवफ़ा आशिक़ हुआ छू!!!!


No img

जयवर्धन की जुबां पर चढ़ा 4200 करोड़ का चकना!!


No img

PS छोला मंदिर: सरेराह युवती के साथ बदमाश ने की छेड़छाड़


No img

MCU पत्रकारिता के छात्रों का विरोध भारी पड़ सकता नवेले कुलपति पर!!


No img

मांडू उत्सव 28 दिसंबर से, पर्यटन मंत्री बोले-टूरिज्म से रोजगार देने का कर रहे प्रयास


No img

दो महिने पहले लापता हुई लड़की, पुलिस के हाथ अब तक खाली


No img

PS कोलार : किशोरी पर बना रहा था शादी का दवाब, इंकार करने पर की छेड़छाड़


No img

विधायक आरिफ मसूद बोले, मप्र में लागू हुआ NRC तो छूड़ दूंगा विधायकी


No img

​तबादलों के तमाशे या ताशों के उल्टे पत्ते??!!!


No img

छग: घर के बाहर खेल रहे व्यापारी के बेटे को अगवा करने वाले गिरफ्तार