PS निशातपुरा: हताश के आगे हारी जिंदगी…युवक ने फांंसी लगाकर दी जान

भोपाल। आज की भाग दौड़ भड़ी जिंदगी में पिछड़ने पर लोग हताशा का शिकार हो जातेे हैं। सहनशीलता और सब्र की कमी युवा वर्ग की जान पर भारी पड़ रही है। और वह अपनी कीमती जान देने से भी नहीं चूक रहे। लोग खुदकुशी अक्सर निराशा, आर्थिक तंगी, बेरोेजगारी के चलते कर लेते हैं। एक और जहां महँगाई के दौर में लोग अपनी रोज़मर्रा की जरूरतें पूरी नहीं कर पा रहे हैं तो वहीं दूसरी और गम्भीर परिस्थितियों के आम जीवन में शिरक़त करते ही आम आदमी चिंता के चक्रव्यूह…

PS निशातपुरा: हताश के आगे हारी जिंदगी…युवक ने फांंसी लगाकर दी जान

भोपाल। आज की भाग दौड़ भड़ी जिंदगी में पिछड़ने पर लोग हताशा का शिकार हो जातेे हैं। सहनशीलता और सब्र की कमी युवा वर्ग की जान पर भारी पड़ रही है। और वह अपनी कीमती जान देने से भी नहीं चूक रहे। लोग खुदकुशी अक्सर निराशा, आर्थिक तंगी, बेरोेजगारी के चलते कर लेते हैं। एक और जहां महँगाई के दौर में लोग अपनी रोज़मर्रा की जरूरतें पूरी नहीं कर पा रहे हैं तो वहीं दूसरी और गम्भीर परिस्थितियों के आम जीवन में शिरक़त करते ही आम आदमी चिंता के चक्रव्यूह…