PS मिसरोद: सूदखोरों से परेशान होकर ऊर्जा विकास निगम के हेल्पर ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या की थी

भोपाल। राजधानी भोपाल में बीते 12 जून को ट्रेन से कटकर खुदकुशी करने वाले ऊर्जा विकास निगम के हेल्पर ने सूदखोरों से परेशान होकर आत्महत्या की थी। पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी थी। मृतक ने कुछ लोगों से पैसे ले रखे थे। वह लोग चोगुनी रकम वापस मांग रहे थे। जिसके चलते मृतक ने आत्महत्या कर ली थी। मिसरोद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, 56 वर्षीय किशन सिंह पुत्र सुंदर सिंह राजहर्ष कॉलोनी कोलार में रहते थे। वह चेतक ब्रिज स्थित ऊर्जा विकास निगम में हेल्पर थे। 12 जून को बावड़िया फाटक के पास ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने उनके पास रखे आईडी कार्ड से उनकी शिनाख्त की थी। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट मिला था जिसमें लिखा था ‘मैं सूदखोरों से परेशान हो चुका हूं…समीर शुक्ला, संजय शर्मा और मीरचंदानी मेरी मौत के जिम्मेदार हैं…इन तीनों ने मेरा जीना दुश्वार कर दिया था…तीनों बयाज की चोगुनी रकम वसूल रहे थे…डेढ़ लाख रूपए लिए थे लेकिन अब तक 4 लाख रूपए दे चुका हूं फिर भी कर्ज से मुक्ति नहीं मिली…इन तीनों को जेल भेज देना…’।

पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई थी। जांच में यह बात सामने आई कि यह तीनों मृतक के साथ पैसे नहीं देने पर गालीगलौज कर रहे थे। जिसके चलते उसने आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने समीर शुक्ला, संजय शर्मा और मीरचंदानी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Related posts