PS बागसेवनिया: नशे के आदि शख्स ने फांसी लगाकर दी जान

भोपाल। राजधानी भोपाल में खुदकुशी के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। आर्थिक तंगी, मानसिक परेशानी, प्रेम प्रसंग में धोखा, नशे की लत के चक्रव्यूह में लोग इतना फंस रहे हैं कि चिता पर लेटने को मजबूर हो रहे हैं। ऐसा ही एक खुदकुशी का मामला बागसेवनिया थाने में सामने आया जहां एक अधेड़ व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस ने मृग कायम कर शव को पीएम के लिए भेज दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, 51 वर्षीय संजय सूर्यवंशी पुत्र नाथुलाल सूर्यवंशी सुरेंद्र विहार बागमुगलिया में रहते हैं। वह जेपी अस्पताल में नेत्र सहायक के पद पर थे। गुरूवार देर रात को उन्होंने अपने कमरे में रस्सी का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली। घटना का पता तब चला जब शुक्रवार सुबह उनका ड्राइवर जसवंत उनके घर आया। बहुत देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो उसने खिड़की से झांककर देखा तो संजय फांसी पर झूल रहे थे।

जसवंत ने इसकी सूचना उनकी पत्नी और पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृग कायम कर शव को पीएम के लिए भेज दिया है। पुलिस को मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है जिससे मौत के कारणों को पता चलता।

पूछताछ में मृतक की पत्नी ममता ने बताया कि वह वेटनरी सहायक विभाग में फील्ड अफसर हैं। उनके दो बच्चे हैं। उन्होंने बताया कि संजय को नशे की लत थी। वह नशे में उन्हें और दोनों बच्चों के साथ मारपीट करते थे। इसलिए 5 फरवरी को वह बच्चों को लेकर कोलार स्थित अपने मायके चली गईं थी।

पुलिस को शक है कि पत्नी और बच्चों के चले जाने से परेशान होकर संजय ने खुदकुशी की होगी। फिलहाल पीएम रिपोर्ट के आने के बाद ही मौत के असली कारणों का खुलासा होगा।

Related posts