PS निशातपुरा: महिला के प्लॉट पर भूमाफियाओं का कब्जा, विरोध करने पर लात घूसे, डंडे और बेल्ट से पीटा

भोपाल। देश में लगातार महिलाओं पर अत्याचार और जुल्म के नए नए मामले सामने आ रहे हैं। इन घटनाओं से पता चलता है कि दबंगों को कानून का कोई डर नहीं है। रौंगटे खड़े कर देने वाला एक वाक्या राजधानी भोपाल में सामने आया है। जहां एक महिला के साथ दो युवकों ने सरेआम बेहरहमी से पिटाई की। विवाद महिला के प्लॉट पर कब्जे करने को लेकर हुआ था। जहां दबंगों ने  महिला के साथ हैवानियत की। हैरत की बात यह है कि वहां मौजूद भीड़ तमाशा देखती रही लेकिन किसी ने भी उस महिला को बचाने की कोशिश की। इस घटना का एक वीडियों वायरल हुआ है। वीडियो वायरल होने के बाद निशातपुरा थाना पुलिस ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की और 3 आरोपियों पर मामला दर्ज करते हुए उन्हे गिरफ्तार किया।

jansamparklife.com को मिली जानकारी के अनुसार, उर्मिला अहिरवार शांति नगर कॉलोनी करोंद में रहती है। उनका इलाके में प्लाट है। कल वह अपनी बेटी पूजा के साथ अपना प्लॉट देखने गईं थी। वहां जाकर पता चला कि उनके प्लॉट पर भूमाफिया धीरेन्द्र ठाकुर ने कब्जा कर लिया है। दोनों महिलाओं ने प्लॉट को अपना बताया इस बात पर धीरेंद्र के सहयोगी किशन साहू, संदीप तिवारी और प्रदीप धाकड़ ने पूजा से विवाद करना शुरू कर दिया। जब महिला ने कहा कि वह थाने में केस करेंगी तो तीनों आरोपियों ने पूजा को बेल्ट लातों और घूंसों से मारा। जब महिला के साथ हैवानियत हो रही थी तब भीड़ खड़े होकर तमाशा देख रही थी कोई भी उस महिला को बचाने आगे नहीं आया। इस घटना का किसी ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

पूजा की मां उर्मिला थाने पहुंची जहां पहले तो पुलिस ने केस दर्ज करने से इंकार कर दिया। जब वीडियो वायरल की बात पता चली तो खानापूर्ति करने के लिए पुलिस ने विभिन्न धाराओं में किशन साहू, संदीप तिवारी और प्रदीप धाकड़ के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पूजा की मां उर्मिला ने बताया है कि धीरेन्द्र ठाकुर इलाके के भूमाफियाओं का सरगना है। वह प्लॉट कब्जे करता है। वह बहुत पहले पुलिस में था। पुलिस से भी उसकी मिलीभगत है, इस कारण पुलिस भी कुछ कार्रवाई नहीं करती है। महिला ने बताया कि धीरेंद्र इलाके के बच्चों को थोड़े पैसों का लालच देकर प्लॉट पर कब्जा करवाता है। पुलिस और भूमाफियाओं की मिलीभगत का अंजाम हम जैसे न जाने कितने लोग सह रहे हैं।

बता दें की यह पहला मामला नहीं है जब निशातपुरा थाना पुलिस पर आरोप लगे हैं। इससे पहले भी पुलिस पर भूमाफियाओं के साथ सांठगांठ करने और जनता को प्रताड़ित करने के मामले सामने आए हैं।

Related posts