PS गोविंदपुरा: मानसिक रोगी किशोरी को घर छोड़ने के बहाने सुनसान जगह ले गए बदमाश, की छेड़छाड़

भोपाल। हर पांच साल के बाद सरकार बदलती है और उन हर पांच साल के बाद आने वाली सरकार से सबका एक ही कयास रहता है और एक ही सवाल रहता है वह यह कि आखिर कब वो दिन आएगा जब महिलाए, बच्चियां रातों के अंधेरों और दिन के उजालों में मेहफूज रहेंगी। आज हर दिन महिलाओं, बच्चियों के साथ र्दुव्यवहार और बलात्कार की घटनाएं सामने आती रहती हैं। महिलाएं घर, दफ्तर कहीं भी मेहफूज नहीं हैं। ऐसा ही एक छेड़छाड़ का मामला गोविंदपुरा थाने में दर्ज हुआ है जहां दो बदमाशों ने एक मानसिक रोगी किशोरी के साथ छेड़छाड़ की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

jansamparklife.com को मिली जानकारी के अनुसार, अन्नापूर्णा एसओएस बाल ग्राम में रहती हैं। उनकी 17 साल की बेटी मानसिक तौर पर कमजोर है। सोमवार को किशोरी घर से कुछ दूरी पर निकल गई थी। उसके बाद वह घर जाने का रास्ता भूल गई। किशोरी पैदल चलते चलते हबीबगंज रेलवे स्टेशन के पास पहुंच गई। किशोरी को वहां अकेला घूमते देख आटो चालक अब्दुल खान और उसका साथी जितेंद्र उसके पास आए और वहां उससे पूछा तो उसने बताया कि वह खो गई। अब्दुल ने उससे कहा कि वह उसे घर छोड़ देगा। दोनों की बातों में आकर किशोरी आटो में बैठ गई। दोनों उसे कस्तूरबा अस्पताल के पीछे एक सुनसान जगह पर ले गए और अश्लील हरकतें करने लगे। वह दोनों उसके साथ बलात्कार करने की कोशिश कर रहे थे तभी कुछ लोगों ने उन्हें देख लिया। लोगों को आता देख दोनों बदमाश उसे वहां छोड़कर भाग गए।

लोगों ने लड़की को उसके घर पहुंचाया। घर जाकर किशोरी ने सारी बात अपनी मां को बता दी। इसके बाद मां गोविंदपुरा थाने पहुंची और अब्दुल वह जितेंद के खिलाफ 354, 354 ख ताहि 7/8 के तहत मामला दर्ज कर दोनों की तलाश शुरू कर दी है।

Related posts