PS कोलार: ससुराल मिला था या नर्क, महिला ने प्रताड़ना सहते—सहते तोड़ा दम

भोपाल। देश में महिलाओं को सबसे ज्यादा प्रताड़ित दहेज के लिए किया जाता है। शादी के बाद से ही मायके से दहेज लाने के लिए दवाब डाला जाता है। जब महिलाएं दहेज नहीं लातीं तो उन्हें मारा पीटा जाता है, शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है। दहेज के लिए महिलाओं को इतना तंग किया जाता है कि वह आत्महत्या जैसे कदम उठाने से भी नहीं डरतीं। ऐसा ही एक मामला राजधानी भोपाल के कोलार थाने में सामने आया था….जहां दहेज के दानवों ने एक विवाहिता को इतना प्रताड़ित किया था कि उसने अपनी जिंदगी ही खत्म कर ली थी। पुलिस ने दहेज लाभी पति और ससुराल वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, 21 वर्षीय हेमा प्रजापति राजहर्ष कॉलोनी कोलार में रहती थी। उसकी शादी आकाश प्रजापति के साथ हुई थी। 3 जुलाई को उसने अपने कमरे में फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली थी। मौत की खबर सुनकर महिला के मायके वाले भी आ गए थे। महिला के मायके वालों ने आरोप लगाए थे कि उसका पति आकश, साल सुनीता और ससुर अतिबल प्रजापति शादी के बाद से ही उनकी बेटी को दहेज के लिए परेशान करने लगे थे। पति और सास ससुर की प्रताड़ना से तंग आकर ही हेमा ने यह कदम उठाया था। वहीं ससुराल वालों का कहना था कि उन्हें दहेज के मामले में फंसाया जा रहा था। उन्होंने कभी कोई दहेज की मांग नहीं की थी।

इस घटना के बाद से ही पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई थी। पति और सास से सख्त पूछताछ में यह बात सामने आई थी की वह लोग मृतका से मायके से दहेज लाने की मांग करते थे। महिला के मना करने पर उसके साथ मारपीट की जाती थी। इन सबसे तंग आकर ही महिला ने फांसी लगा ली थी। पुलिस ने दहेज लाभी पति और ससुराल वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Related posts