PS कोलार: चोरों ने की नींद हराम, सूने मकान से ले उड़े हजारों का माल, पुलिस की कार्यवाही सवालों के घेरे में

भोपाल। राजधानी भोपाल में बेखौफ चोरों ने जनता की नींद हराम कर दी है। आए दिन चोरी, लूट की घटनाओं से लोगों में खौफ छाया हुआ है। वहीं लोगों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाने शुरू कर दिए हैं। बीते कई महिनों में दर्जनों घरों, दुकानों, सड़क चलते राहगीरों के साथ चोरी व लूट की घटनाएं हो चुकी हैं, किंतु पुलिस अब तक इन घटनाओं का खुलासा नहीं कर पाई है। चोरी के मामलों में पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने में कई-कई दिन लगा देती है। इस तरह लेट-लतीफी के चलते पुलिसिया कार्रवाई सवालों के घेरे में है। पुलिस इन चोरों को पकडऩे में नाकामयाब रहीं है। पुलिस का ढुलमुल रवैया अब जनता को रास नहीं आ रहा है। ऐसे में जनता का भरोसा अब डगमगा रहा है। इस वजह से पुलिस और चोर में अब मैं डाल-डाल तू पात-पात वाली कहावत चरितार्थ हो रहीं है। ऐसा ही एक चोरी का मामला कोलार थाने में सामने आया जहां चोरों ने एक सूूने घर पर हजारों के माल पर हाथ साफ कर दिया। रिवाज ए दस्तूर पुलिस मामला दर्ज कर लिया और फरियादी को चोरों को जल्द से जल्द पकड़ने का आश्वासन देकर वहां से रफा दफा कर दिया।

jansamparklife.com को मिली जानकारी के अनुसार, मनीष गुप्ता गिरघर परिसर कोलार में रहते हैं। वह छठ पुजा के लिए 22 अक्टूबर को सपरिवार अपने पेतृक निवास बिहार गए थे। जब कल शनिवार को बिहार से वापस घर आए तो देखा कि मेन गेट का ताला टूटा हुआ है। ताला टूटा देख परिवार का माथा ठनक गया। अंदर दाखिल होने पर उन्हें चोरों की करतूत का पता चला। अंदर का सारा सामान बिखरा पड़ा हुआ था, अलमारी का ताला टूटा था और उसमें रखी 70 हजार की नकदी गायब थी। इसके बाद मनीष संबंधित कोलार थाने पहुंचे और चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। फरियादी ने पुलिस को बताया कि चोरों ने उनके घर से 70 हजार नगदी और कीमती सामान चुरा लिया है। पुलिस ने फरियादी की रिर्पोट पर मामला दर्ज कर लिया है लेकिन कब तक चोरों का पकड़ पाएंगी इसका पता नहीं।

पुलिस अपनाएं सख्त रवैया, खुफिया तंत्र करें मजबूत

पुलिस सख्त रवैया अपनाकर एवं खुफिया तंत्र को मजबूत कर काम करें तो चोर पकड़ में आ सकते है। गत दिनों राजधानी के इलाकों में दुकानों,घरों व मंदिरों में चोरियों की वारदातों को चोरों ने अंजाम दिया है जो पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालियां निशान खड़ा कर रहीं है।

Related posts