PS अशोका गार्डन: चाकूओं से गोदकर सिक्योरिटी गार्ड की हत्या, पुलिस जांच जारी

भोपाल। राजधानी भोपाल में एक सिक्योरिटी गार्ड की हत्या का मामला सामने आया है। मृतक गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र स्थित मसाले की फैक्ट्री में तैनात था। जिसकी धारदार हथियार से गोदकर हत्या कर दी गई। हत्यारे ने गार्ड के पेट और पसली पर आठ से दस वार किए। पुलिस ने मृग कामय कर शव को पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल भेज दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस को इस वारदात के पीछे किसी करीबी के होने का संदेह है।

जानकारी के अनुसार, 50 वर्षीय प्रताप लोधी गायत्री नगर, अशोका गार्डन में परिवार के साथ रहता था। वह मूलत: पठारी का निवासी था। वह गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र स्थित सोम—ओम इंटरप्राइजेस नामक फैक्ट्री में सिक्योरिटी गार्ड के पद पर तैनात था। इस फैक्ट्री के मालिक अलकापुरी निवासी सागर पिंदवानी हैं। सोमवार रात आठ बजे प्रताप सिंह ड्यूटी पर आए थे। मंगलवार सुबह आठ बजे जब दूसरा गार्ड सांझा राम फैक्ट्री पहुंचा तो देखा कि मुख्य द्वार खुला था। अंदर पहुंचने पर देखा कि प्रताप सिंह अचेत पड़े हुए थे। इसके बाद उसने और लोगों व फैक्ट्री के मालिक को इसकी जानकारी दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने देखा कि मृतक के पेट और पसली में नुकीले और धारदार हथियार से आठ से दस वार किए गए। मृतक गार्ड के हाथ में फैक्ट्री के मेन गेट की चाबी मिली है। घटनास्थल पर संघर्ष के कोई निशान नहीं मिले हैं, जिससे लगता है कि किसी परिचित ने घटना को अंजाम दिया है। वहीं पुलिस को फैक्ट्री के एक गोदाम के ताले टूटे मिले हैं और यहां दराज में रखे 37 हजार रुपए गायब हैं। पुलिस को अंदेशा है कि चोरी की नीयत से घुसे बदमाश ने वारदात को अंजाम दिया होगा। पुलिस ने दो-तीन संदेहियों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ जारी है।

जिस जगह प्रताप सिंह की लाश मिली है, ठीक उसके सामने सीसीटीवी कैमरा लगा है, लेकिन शार्ट सर्किट की वजह से रात में कैमरे बंद कर दिए गए थे। गोदाम में भी सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, लेकिन घटना के समय बंद थे। अशोका गार्डन टीआई का कहना है कि पुलिस की तीन टीमें जांच में लगी हुईं हैं। जल्द ही हत्याकांड का पर्दाफाश किया जाएगा।

Related posts