अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







बीजेपी के नेताओ ने पहले हनुमान को दलित फिर जाट और अब मुसलमान बना डाला!!

18 Oct 2019

no img

जनसम्पर्क-life

अब तक क्यों नही हुआ योगी, लक्ष्मी नारायण और बुक्कल नवाब पर मुक़दमा दर्ज़??

अनम इब्राहिम

हिंदुस्तान: सियासत की सड़न से सड़ी हुई बदबूदार नालियों का रुख अब पवित्र धार्मिक गलियों की तरफ़ तेज़ी से मुड़ता चला जा रहा है। आस्थाओं के तमाम आशियाने सियासी ज़ुबानों से अपवित्र होते चले जा रहे है बेलगाम बड़बोले नेता सुर्खियों की सलवार में ज़बरन मुहं फसाकर फ़साना बुनने लग रहे है। हैरत की बात है देश में सत्ता कि सवारी कर रहे मोदी के रथ के एक एक पहिये वक़्त के साथ साथ कमज़ोर होते जा रहे, टूटते जा रहे हैं वजह सिर्फ़ पार्टी में मुट्ठीभर बड़बोलो की बेलगाम ज़ुबान है जिससे मज़हबी छेड़छाड़ के लिए नश्तर की तरह लफ्ज़ निकलते है जो बीजेपी के मतों को चारे की तरह चबा डाल रहे है। थोड़े समय पहले ही उत्तरप्रदेश के राजभोगी योगी को मुख्यमंत्री के शाही इंतेज़ामो के बीच लज़्ज़तदार पकवान हज़म नही हो पा रहे थे कि तभी उन्होंने जातपात की हाजमोला खाकर सियासत में शरारत की हद पार कर डाली और करोड़ो लोगो के पूजनीय हनुमान जी की जात पर सवाल खड़े करते हुए उन्हें ब्राह्मण से दलित करार दे डाला जिसके बाद योगी के बयान को मीडिया ने आड़े हाथ लेते हुए पूरी दुनिया मे परोस के पेश किया। बहरहाल हनुमान जी के नाम पर मुशायरा लूटने भाजपा के दूसरे कद्दावर नेता भी कूद पड़े, एक बीजेपी के रत्न बने मंत्री ने जोश में दलीलें देंते हुए बयान जारी कर दिया की बजरंगबली तो जाट हैं, क्योंकि जाट ही दूसरों के मामले में अपनी टांग फंसाता है। हनुमान जी मेरी जाति के थे यूपी बीजेपीमंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के बयान का बारूद अभी पूरी तरह फैला भी नही था कि भाजपा के मुस्लिम MLC बुक्कल नवाब ने आग में घी डाल के आस्था से जुड़े मामले को और भी भड़का दिया लिहाज़ा इस तरह किसी भी मज़हब के धार्मिक इबादती क़िरदारों की शख्सियतों को सियासी बयानबाज़ी के कठघरे में खड़ा कर के उनके पवित्र नाम की आबरू को रेजा-रेजा कर तारतार करने के बयान सियासी गलियारों में देश के मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से भी छीन लेना चाहिए। मज़हबी मसलों में टांग अड़ाने का हक़ किसी पार्टी के नेताओ के पास नही रहना चाहिए। मज़हब की अच्छी बातें सामूहिक रूप से धार्मिक स्थलों के भीतर ही अच्छी लगती है उसे सियासत की महफ़िल में उछालकर इस तरह रुसवा नही करना चाहिए। जब जब धार्मिक दलाल सियासत के आसमान पर मनघड़ंत व भडकाऊ शब्दों के खंज़र फेकते रहेंगे तब तब ना जाने कितने आसमानी आस्था के दीवानों के दिल ज़ख्मी हो होते रहेंग। खैर अभी तो 19 चुनावी सियासत के शोले बाक़ी.. आगे आगे देखिए होता है क्या?

सियासत मज़हब


Latest Updates

No img

उज्जैन DIG रमनसिंह सिकरवार को सालगिराह की दिली मुबारक़बाद !!!!


No img

सिंहस्थ में भ्रष्टाचार की खुली परतें, कांग्रेस मंत्री बोले-कार्रवाई भी होगी और गिरफ्तारी भी, वसूली भी करेंगे


No img

टीआई मनीष एसआई कामेश की फिर हुई शिकायत


No img

ख़ाकी की खाल में खलनायक की चाल चलने वाले टीआई का दोहरा ख़ुलासा!!!


No img

Maharashtra tops the list of new Corona cases, Arunachal Pradesh first state with 0 cases so far


No img

कमलनाथ सरकार ने पेश किया विजन डॉक्यूमेंट, सीएम ने गिनाईं उपलब्धियां


No img

मध्यप्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र कल से


No img

अंदर का मौसम खिज़ा की चपेट में हो तो बाहर खुली बहार की खुशबू भी जज्बों पर छाई खामोशी को तोड़ने में नाकाम रहती है।


No img

झाबुआ पहुँच उप चुनाव में प्रदेशभर के कांग्रेसी नेता करवा रहे है अपनी मौज़ूदगी दर्ज़!!


No img

सियासत की कैद में प्रदेश पुलिस!!!


No img

रतलाम में हनी ट्रैप जैसा मामला: प्रेम जाल में फंसाकर युवक के साथ बनाए अश्लील वीडियो, ब्लैकमेल कर मांगे 50 लाख


No img

।सिन्धियों के वोट सिखाएंगे रामेश्वर को सबक।।


No img

शहर में क़ाबिज़ जंगलराज: सरेराह धारदार हथियार से हुआ मर्डर!!


No img

प्यारे मियां यौन शौषण मामले की पीड़िता ने बालिका गृह में खाई नींद कि गोलियां, पीड़िता वेंटिलेटर पर


No img

प्रदेश में नगर निकाय चुनाव का पारा हुआ गर्म!!,