अख़बार की दुनिया मे बेबाक़ी का सबसे बड़ा कलेजा

【 RNI-HIN/2013/51580 】
【 RNI-MPHIN/2009/31101 】



Jansamparklife.com







संवैधानिक ओहदेदारी का हक़ चाहिए! तो जाइए पहले अपना फ़र्ज़ निभाइये!!

23 Dec 2020

no img




में जब अपने खुदा से मिलूंगा तो पूछुंगा


कुन जब पहली बार कहा तो कौनसा लफ्ज़ इजात किया?



देख लेना पहला लफ्ज़ मुझ जैसे मज़लूम के लिए इंशाफ़ ही इजात हुआ होगा......


Anam Ibrahim

राष्ट्रवादी रिपोर्टर

 भोपाल



गांधीवादी पाठशाला:


कक्षा: पहली/पहेली 


पता: वैधानिक बदला हॉउस

भारतीय भूमि भाईचारे के बगीचे में कट्टरवाद के ख़िलाफ़ शब्दो का नश्तर पैना करतेपुरा  

शहर:  भोपाल 


बस्ती: घरघर हर घर

पिन पोस्टल कॉर्ड 426001`


`` 

  

अगर आप को अकेला खड़ा रहने में डर लगता है तो

फिर सच और हक़ के रास्ते पर क़दम कभी मत बढ़ाइए ज़नाब!

क्योंकि हक़ और सच के रास्ते तय करने वाले लोग तो 

हमेशा अकेले ही डटके के तन्हा खड़े होते  है! 

अगर आप को उठाने वाला खुदा है तो फिर क्या फर्क पड़ता है कि गिराने वाला कौन है! दुनिया की ताकत से तो वो डरता है जिसे रब की ताकत का अंदाज़ा अबतक नही हो पाया!

ज़िन्दगी के हर फ़र्ज़ निभाइए हक़ मांगने की ज़रुरत नही पड़ेगी आपका हक़ तो खुदबखुद ज़माना अदा कर ही देगा! 

 रही बात सच की तो किसी बेरहम जालिम बादशाह के सामने हक़ बात के लिए आंख मिलाकर सच बोलना बहादुरों का काम है, कमसकम अपने हक़ के लिए नही लड़ सकते तो दुसरो के हक़ के लिए ही सहीं सच तो बोलिए वरना यहक़ीनन आप अपने सामाजिक फ़र्ज़ व हक़ से हाथ धो बैठोगे फिर यह मत कहना कि तुम्हे अनम असमाजिक  मानता है  लिखता  है ! 


––――–――----------------------------

         फर्ज और हक़!



 मोहनदास करमचंद गांधी 

 राष्ट्रपिता 


                                  

बिड़ला हाउस, नई दिल्ली

साय प्राथना

मूल भाषा: हिंदी


अवधि : ४५ सेकंड


मैं कहता हूं की हिंसा से हम हक भी नहीं ले सकते। हक अगर लेना हैं तो एक ही तरीका है जो मैंने प्रकट कर दिया हैं और पीछे जो सबको पसंद पड़ा। लिखा था ऐसे ही लोगों के हक क्या हो सकते हैं और हक के लिए क्या करना चहिए। उनके जवाब में मैंने लिखा कि हक लोगो के पास कुछ हैं है नहीं। जिसके पास फर्ज नहीं है उसके पास हक नहीं है। अर्थात सब हक जितने हैं वे सब अपने फर्ज में से निकलते है। तो पीछे हक नहीं रहता वह तो यही कहना हुआ की मैं जो फर्ज अदा करता हूं उसका नतीजा मिल जाता है। तो उसके नतीजे में मुझको हक मिलता हैं।

Blog


Latest Updates

No img

प्रज्ञा का पुतला फूंक इस कांग्रेसी विधायक ने बोला: असली में भी जला सकते हैं प्रज्ञा को


No img

PS शाहपुरा: परिजनों की गैरमौजूदगी में युवती ने लगाई फांसी


No img

भाजपा नेता की गैस एजेंसी पर क्राइम ब्रांच की रेड, अधिक मुनाफे के लिए चल रहा था यह काम...


No img

आर्थिक तंगी के चलते कारोबारी ने बच्चों की हत्या कर पत्नी, मैनेजर के साथ बिल्डिंग से कूदकर दी जान


No img

बिजली के बिलों की माला पहनने वाली बुजुर्ग महिला ने खोली भाजपा की पोल


No img

रतलाम में हनी ट्रैप जैसा मामला: प्रेम जाल में फंसाकर युवक के साथ बनाए अश्लील वीडियो, ब्लैकमेल कर मांगे 50 लाख


No img

​तबादलों के तमाशे या ताशों के उल्टे पत्ते??!!!


No img

अपने ही घर में असुरक्षा के चलते ख़ौफ़ के साए में आई दलितो की बस्ती!!!


No img

दिन दहाड़े गुज़री क़त्ल की वारदात, भतीजे ने चाचा को उतारा मौत के घाट!!!


No img

पक्ष-विपक्ष के बीच किसानों की मौत पर दूसरे दिन हुई विधानसभा सत्र में सियासत!


No img

ताजुल मसजिद के सामने मेले से लगा जाम,मरीजो का हॉस्पिटल जाना हुआ मुहाल!!!!


No img

क्या आप के मौहल्ले में भी है चकला???


No img

मध्यप्रदेश विधानसभा: हिंदी के अलावा उर्दू-सँस्कृत भाषा में भी विधायकों ने ली शपथ!


No img

देवा ओ देवा तेरी आमद मरहबा! महादेव के लाल तेरी आमद मरहबा!!


No img

वतन-ए-हिन्दुस्तां तुझे गणतंत्र का दिन मुबारक़ संविधान की आमद मरहबा