DIG के वाहन ने स्कूटी चालक महिला को उड़ाया फिर मनघडंत करवा दी FIR!!!

अनम इब्राहिम

DIG मिश्रा की कार ने जिस महिला को उड़ाया अब वो महिला FIR में बन गई पुरुष!!

*-जनसम्पर्क-life-*

मध्य्प्रदेश: भोपाल आज सुबह जब ढ़लते ढ़लते दोपहर का लिबाज़ ओढ़ रही थी तभी राजधानी के थाना कोह-ए-फ़िज़ा से जुड़े इंदौर मार्ग के शहरी हिस्से में ताबड़तोड रफ़्तार से शहर में दाख़िल होती पूर्व इंदौर DIG व PHQ के AIG हरिनारायण चारी मिश्रा की कार ने राह चलती आम स्कूटी चालक महिला को उड़ा दिया। रफ़्तार पर काबू पाने में बेअसर हुए ड्राइवर ने DIG के वाहन को डिवाईडर पर चढ़ा कर कबाड़े में तबदील कर दिया। ओहदेदारी के बल पर रफ़्तार का लुफ़्त उठा रहे DIG व उसके साथी हादसे के बाद सकपका गए और आनन—फानन में शासकीय नम्बर प्लेट MP03.. व डीआईजी स्तर की एक सितारा नीली पट्टी को अपने वाहन से हटा दिया। हादसे की भनक लगते ही आंचलिक व राष्ट्रीय स्तर के पत्रकारों के समाचारों की सुर्खियां शोलों में तब्दील हो गईं कि डीआईजी के वाहन ने राह चलती आम महिला को रफ्तार का शिकार बना दिया है। परन्तु इधर कोहेफिजा थाने के रोज़ नामचे में अफसर की ओहदेदारी को महत्व देकर लीपा-पोती की जाने लगी। समाज, मीडिया व सूत्रों के हवालों को दरकिनार कर डीआईजी के गनमेन को फरियादी बना अज्ञात स्कूटी चालक पर उल्टा मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

हैरत की बात तो यह हैं कि डीआईजी के वाहन से घायल हुई महिला गायब हो गयी। आसमान लील लिया या ज़मीन खा गई या उसका अपहरण हो गया या वो देश छोड़कर भाग गयी,मीडिया का इन्तेज़ार ख़त्म भी नहीं हो पाया था कि शाम ढलते-ढलते मीडिया के मुखबिर जिस फरियादी स्कूटी चालक महिला की तलाश कर रहे थे थाना कोहेफिजा पुलिस ने उसको छयासठ वर्षीय राजेन्द्र नायक नामक पुरुष बना कर पेश कर दिया

इस तमाम तमाशे का जायज़ा लिया जाय तो पुलिस—पुलिस, भाई—भाई नज़र नहीं आती, नाही क़ानून की पैरवी करने वाले इंसाफ़ व निष्पक्षता के साहिमायती थाना स्थर पर नज़र आ रहे हैं बस नज़र आ रहा है तो महज खुट्टा ग़ुलामी के लिए इंसाफ़ का सौदा। कर लो मैदान में बने रहने के लिए ज़नाबों मज़लूमों पर ज़ुल्म। लेकिन आप की माँ बहन भी रास्तों पर ओहदेदारी का शिकार हो तो शिकायत नहीं अपनी कुकर्मो की शरारत समझना।
वली जागो पुलिस भोपाल में इंसाफ़ करने से परहेज़ कर रही है सियासत और अफ़सरों को खुश करने के लिए……

इसके आगे इस समाचार का अचार चखना है तो राफ़ता क़ायम कर रूबरू होइये जनसम्पर्क life के संवादाताओं से

Related posts