हथियारों की ईबादत, शस्त्र पूजा में मुब्तिला हुई भोपाल पुलिस!!!

जनसम्पर्क -life Anam Ibrahim भोपाल : विजयदशमी के पवित्र मौक़े पर आज भोपाल के नेहरू नगर पुलिस लाइन में शस्त्र परस्तीत की परम्परा को अफ़सरो द्वारा अमल में लाया गया जिस मौक़े पर भोपाल DIG इरशाद वली, SP शैलेंद्र सिंह चौहान, ASP अखिल पटेल, क्राइम ब्रांच ASP निश्चल झारिया, निगम कमिश्नर, कलेक्टर व अन्य मैदानी अफ़सरो ने सामुहिक रुप से पूजा में भाग लिया। इस विजयदशमी के सत्य दिवस पर ईश्वर से कामना है कि हर उस शस्त्र में सकती दे जो मज़लूम, कमज़ोर, निर्धन, बेकसूरों की हिफाज़त के लिए…

B’Day Wishes: ASP क्राइम निश्चल झारिया को सालगिराह के मौक़े पर सलामती भरा सलाम!!

Anam Ibrahim 7771851163 भोपालः अपराध शाखा में वज़ीर का क़िरदार निभा रहे क्राइम वन झरिया एक नर्मदिल शख़्सियत हैं जो अपराधियों पर नकेल कसने में महारत तो हासिल रखते है साथ ही निर्धन बेक़सूर फरियादियों पर रहम भी करते हैं उनकी पुलिसिंग से कई अंधे मामलो पर कार्यवाही की रौशनी भी बिखरी है हाल ही में निश्चल झारिया जी की सालगिराह गुज़री है। जनसम्पर्क-life उनकी लम्बी उम्र सेहत तंदरुस्ती की अल्लाह से कामना करता है। Belated Happy Birthday

एडीजी राजीव टण्डन के बाथरूम में सिपाही ने फाँसी लगाई या किसी ने फांसी पर टांग दिया?

जनसम्पर्क-life बार बार अपराध का कांटा हिस्ट्रीशीटर से ज़्यादा सीनियर ADG, DG रेंक के पुलिस अफ़सरों की गिरेबां की तरफ़ ही क्यों झुक रहा है??? Anam Ibrahim 7771851163 भोपाल: मध्यप्रदेश सूबेभर के गली, मोहल्ले सड़कों के मवाली अपराधी क़ातिल, हवस के भेड़िए, दानव दरिंदो से ज़्यादा उंगलियां सफेदपोश वरिष्ठ IPS अफ़सरों पर इन दिनों क्यों उठ रही है? इसका इल्म हमारे पास तो है लेकिन ज़माना इससे अभी भी ग़ाफ़िल है। हाल ही में गुंजा हुआ हल्ला रह रहकर सीनियर अफ़सरो के दामन को इल्ज़ामों की सियाही से भद्दा कर…

After man found dead in police custody Satna SP Riyaz Iqbal suspends 8 police personnel and line for TI

Satna: After custodial death, Nagaud police station is accused of vandalism. This entire case is related to the death in custody of a young man running a small stitch shop. In fact, the police had arrested this young man on suspicion of playing bet. During interrogation at the police station, the young man died suspiciously. In this case, the police rushed the young man to the hospital and left him there. At the same time, as the news of death in police custody spread, hundreds of people gathered and started…

भोपाल: आईजी के ओहदे से देशमुख की रुख़्सती कर, कटियार के बाज़ुओं पर लादा भार!!

Anam ibrahim आदर्श कटियार शहर की नफ़्ज़ को छूते ही, बता सकते है भोपाल सुरक्षा व्यवस्था के हाल जनसम्पर्क-life राजधानी में IPS पोस्टिंग के पहले एसएसपी थे आदर्श कटियार!!! मध्यप्रदेश भोपाल: पुलिस मुख्यालय में वैसे तो सीनियर्स IPS की प्रदेश भर में फैली-पसरी लंबी सूची शुमार है कोई काम कर के नाम को तरसता है तो कोई नाम कमाने के लिए काम को तरसता है। भोपाल: सुरक्षा की नफ़्ज़ के पूर्व हक़ीम रह चुके आदर्श कटियार का नाता राजधानी की सुरक्षा में ऐतेहासिक दर्ज़ है, वजह कटियार के बाज़ुओं पर…

IPS Adarsh Katiyar replaces Bhopal IG Yogesh Deshmukh, SIT chief changes for 3rd time

Bhopal: In a recent transfer done by Madhya Pradesh government senior officers have been trasferred from their designated post. The most important post holding the Inspector general of Bhopal IG Yogesh Deshmukh have now been transferred to police headquarters Bhopal. He has been replaced by Additional DGP of S.C.R.B police headquarters Bhopal IPS Adarsh Katiyar. Also in the reason turn of events it feels as if the current government of Madhya Pradesh is not satisfied with the probe done by SIT in the honeytrap matter. For the third time SIT…

ASP संजय साहू को सालगिराह के मौक़े पर सलामती भरा सलाम!!

भोपाल: इस शहर की सुरक्षा में बड़ा महत्तपूर्ण क़िरदार है सभी ASP का, सिपाही और आला अफ़सरो के बीच की कड़ियाँ बन क़ानून व्यवस्था के हाथ पैर नही फूलने देते हैं ASP अफ़सोस सभी ASP पुलिसिंग के उस स्तर पर नही पहुँच पाते लेकिन वर्तमान स्थिति शहर में क़ानून व्यवस्था को संभाल ने वाले 3 ASP की ऐसी है जिनकी ज़ेर-ए-निगरानी में शहर ही नही सूबा भी सुरक्षित रह सकता है बशर्ते की इनके कार्यक्षेत्र में इज़ाफ़ा किया जाए। जिन मौज़ूदा ASP में संजय साहू का नाम भी शामिल है…

पुलिसिया घोड़े फिर लाए गए राजधानी में, ग्लैंडर्स बीमारी के कारण भेज दिया था शहर से बाहर

भोपाल। राजधानी से बाहर किए गए पुलिस के घोड़ो के तीसरे बार सैंपल लिए जा रहे हैं। बता दे कि ग्लैंडर्स बीमारी के चलते लगभग एक साल में इन घोड़ो को राजधानी निकाला दिया गया था। बीमारी से पीड़ित सभी 17 अश्वों को संचालक स्वास्थ्य सेवाएं की अनुमति के बाद सातवीं बटालियन के लाल परेड मैदान में बने आधुनिक अस्तबल में लाया गया है। वेटनरी डॉक्टरों की टीम द्वारा अश्वों के सैंपल लिए जा रहे हैं। रिपोर्ट आने के बाद तय होगा कि अश्व 7वीं बटालियन के अस्तबल में रह…