75 वर्षीय पादरी को 15 साल की कैद, 8 महिलाओं के साथ किया था रेप

सियोल। रेप के आरोप में दक्षिण कोरिया के एक पादरी को 15 साल की सजा सुनाई गई है। पादरी ने उसके मोगाचर्च की 8 महिला अनुयायियों के साथ रेप किया था। 75 वर्षीय ली जे रॉक नाम का यह पादरी महिलाओं का यह कहकर रेप करता था कि यह ईश्वर का आदेश है, जिसका वह पालन कर रहा है। पीडित महिलाओं ने अपने आरोप में कहा कि पादरी कहता था कि उसके पास दैवीय शक्ति है।

महिलाओं ने बताया कि उन्होंने पादरी की बात को इसलिए माना क्योंकि वह कहता था कि वह खुद भगवान है। हालांकि पादरी के मेगाचर्च को प्रमुख ईसाई संस्थानों की ओर से मान्यता प्राप्त नहीं है। इस चर्च की स्थापना पादरी ने 12 अनुयायियों के साथ 1982 में की थी। हालांकि अब यह मेगाचर्च का रूप ले चुकी है। फिलहाल दुनिया भऱ में इसकी 10,000 शाखाएं और बहुत से चर्च इससे जुड़े हुए हैं।

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि पीड़ित महिलाएं पादरी के आदेश को इसलिए मान रही थीं क्योंकि उन्हें लगता था कि इसके पालन से उन्हें स्वर्ग की राह मिलेगी। वे बचपन से ही उसके चर्च में आती थीं।

Related posts