सूबे में मंडरा रहे अपराध और अपराधी, कानून व्यवस्था ध्वस्त: तोमर

ग्वालियर। लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए तमाम दल ऐड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं। नेता एक दूसरे पर बयानबाजी और पलटवार कर रहे हैं। इसी कड़ी में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने सूबे की कांग्रेस सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा, मध्यप्रदेश में बिना बहुमत वाली सरकार है। जिसके कारण प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। ग्वालियर चंबल से लेकर बालाघाट तक अपराधी और अपराध मंडरा रहे है। भ्रष्टाचार चरम पर है। कांग्रेस सरकार तबादला उद्योग में व्यस्त है और भोपाल में दलाल सक्रिय हो गए है। यह बानगी कमलनाथ सरकार की ध्वस्त प्रशासन की तस्वीर को बयां करती है। पूते के पांव पालने में दिखाई दे रहे हैं। चार महीने में अगर यह हालात हैं तो चार साल में यह सरकार क्या करेगी।

केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कल गुरूवार को ग्वालियर लोकसभा क्षेत्र से उम्मीदवार विवेक शेजवलकर के समर्थन में ग्राम चिटौली में लखेश्वरी माता मंदिर पर एक जनसभा आयोजित की। तोमर ने कहा कि बीते 15 वर्षों में शिवराजसिंह चौहान ने गरीबी उन्मूलन, किसानों की माली हालत ठीक, बहनों का सशक्तिकरण, गांवों में 24 घंटे बिजली पहुंचाने और गांव-गांव तक सड़क बनाने के साथ बुजुर्गों को तीर्थदर्शन कराने का काम किया, लेकिन प्रदेश में सरकार बदलते ही जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद करने का काम कमलनाथ सरकार कर रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने चुनाव के पहले बड़े-बड़े वादे किए थे। कर्जमाफी की बात कही थी और कर्जमाफी न होने पर मुख्यमंत्री बदलने का वादा किया थाए लेकिन न कर्जमाफी हुई और न सीएम बदला गया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के समय जनता को 24 घंटे बिजली मिलती थी लेकिन अब बिजली झटके मार रही है। उन्होंने कहा कि देश को आगे बढ़ाना है तो कठोर और कड़े निर्णय लेने पड़ते हैं। 2014 में देश की जनता ने इसी आशा और विश्वास के साथ नरेंद्र मोदी को बहुमत दिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इन 5 साल में देश हित में निर्णय लिए हैं जो कहा उसको पूरा करने का काम किया। गरीबी उन्मूलन, गैर बराबरी को समाप्त करने, किसानों की माली हालत सुधारने, घर-घर में उज्जवला गैस पहुंचाने और बेरोजगारों को स्किल डेवलपमेंट कराने की दृष्टि से हर तरफ हर दिशा में काम करने की कोशिश मोदी सरकार ने की है। इसी का यह परिणाम है कि जब हम सरकार आए तब भारत की अर्थव्यवस्था 11 वे स्थान पर थी। इन पांच वर्षों में मोदी जी के कठोर निर्णय, कुशल नेतृत्व आर्थिक सुधार का परिणाम है कि अब भारत छठे स्थान पर पहुंच चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम आने वाले दिनों में विश्व की तीसरी अर्थव्यवस्था के रूप में उभरेंगे।

Related posts