ख़ाकी के सच्चे खैरख्वाहों में शुमार भाई SP अरविंद सक्सेना को सालगिराह मुबारक़!!

अनम इब्राहिम

राजधानी की सरज़मीं पर जब-जब मैदानी पुलिसिया इन्तेज़ामो की निगहबानी की कारगुज़ारी के किस्से दोहराएं जाएंगे तब-तब एक ही नाम सबसे अव्वल स्थान पर आएगा वो नाम है SP अरविंद सक्सेना का जिन्होंने भोपाल में 5 साल कप्तान रहते हुए भी गली, मौहल्ले व सड़को पर उतर के पुलिसिंग कर शहर को संभाला है। अरविंद सक्सेना मेहनती मिलनसार होने के साथ-साथ लोगो के दिलो में अपनी जगह बनाने में भी माहिर है। उनकी जहां-जहां भी पुलिसिया मैदान में पोस्टिंग हुई है उन्होंने वहां-वहां अपनी ईमानदारी से ड्यूटी निभाई है, अरविंद सक्सेना के रहते हुए 5 सालो में कभी भी कर्फयु लगने के हालात नही बने। अपराध को रोकने में अंधे मामलो को सुलझाने में शांति से शहर को तर रखने में अरविंद सक्सेना से अच्छा और कोई क़िरदार नही निभा सकता आज बड़े भाई अरविंद सक्सेना जी को उनके 53वे जन्मदिन पर दिली मुबारक़बाद💐💐💐💐

Related posts