हनीट्रैप: Lipstick और Goggles में फिट किए जाते थे कैमरे और फिर करते थे ब्लैकमेल

इंदौर/भोपाल: हनीट्रैप कांड ने ना केवल IAS-IPS अफसरों को घेरे में ले लिया हैं बल्कि अमीर व्यापारी और नेता भी इससे बच ना सके। हाल ही में हनीट्रैप कांड का सबसे बड़ा खुलासा हुआ जिसमें मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का भी नाम सामने आया था। आगे की पूछताछ से यह पता चला हैं कि हनीट्रैप कांड में जो महिलाएं इस गोरख धनदे में अपने जिस्म को मोटी कीमत में बेचने निकलती थी वो वीडियो के ज़रिए ब्लैकमेल करती थी। ब्लैकमेल में मुख्य किरदार महिला के लिपस्टिक और गॉगल्स बनते थे। बताया जा रहा हैं कैमरे को बड़ी चालाकी से लिपस्टिक और गॉगल्स में फिट किया जाता था जिसमे वीडियो रिकॉर्ड किया जाता हैं। हिराफ़ में आए हनीट्रैप के मुख्य आरोपी 5 महिलाएं और 1 पुरुष हैं। आरती दयाल (29) मोनिका यादव (18) श्वेता विजय जैन (39) श्वेता स्वप्निल जैन (48) बरखा सोनी (34) ओमप्रकाश कोरी (45) को पुलिस ने मुख्य आरोपी के रूप में गिरफ्तार किया हैं।

Related posts