सूरत: कोचिंग कॉम्प्लेक्स में दौड़ती आई आग, 20 की मौत, कई लोग तीसरी मंजिल से कूदे

सूरत। गुजरात के शहर सूरत में कल एक दिल दहला देने वाला वाक्या हुआ। शहर के तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में एक कोचिंग इंस्टिट्यूट चलता था। कल शुक्रवार को वहां शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। जिसमें 15 बच्चों सहित 20 लोगों की मौत हो गई। घटना के वक्त 40 स्टूडेंट्स पढ़ाई कर रहे थे। घटना शॉर्ट सर्किट से हुई और धीरे-धीरे आग कॉम्प्लेक्स के दूसरे फ्लोर पर पहुंच गई। अभी तक 20 लोगों के मरने की पुष्टी हो चुकी है, लेकिन और लोगों की मौत की आशंका है। सूरत पुलिस ने कॉम्प्लेक्स के बिल्डरों हर्षल वकेरिया और जिग्नेश के अलावा कोचिंग सेंटर के मालिक भार्गव भूटानी के खिलाफ FIR दर्ज कर उन्हे हिरासत में ले लिया है।

Image result for तक्षशिला काम्प्लेक्सबता दें कि ज्यादा जानें आग से बचने के चक्कर में बिल्डिंग से कूदने की वजह से गई हैं। सरकार ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। हालांकि शुरुआती तौर पर शॉर्ट सर्किट को हादसे की मुख्य वजह माना जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आग की शुरुआत शॉर्ट सर्किट से हुई जो धीरे-धीरे टॉप फ्लोर पर पहुंच गई। यहीं एक कोचिंग क्लास चल रही थी, जिसमें करीब 40 बच्चे और टीचर मौजूद थे।

Image result for तक्षशिला काम्प्लेक्स

इस हादसे का एक वीडियो वायरल हुआ है कि किस तरह से बच्चे कॉम्प्लेक्स के ऊपरी फ्लोर पर जाकर कूद रहे थे और अपनी जान बचाने की कोशिश कर रहे थे। घटना को लेकर पीएम मोदी और राहुल गांधी ने ट्वीट कर शोक जताया है।

यह कैसी सुरक्षा

इस घटना ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। विकास की बातें तो होती रहती हैं, लेकिन विकास किस हद तक हो रहा है? ये सिर्फ बिल्डिंग बनाने, अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए, देश को आगे बढ़ाने के लिए है, या इसमें कहीं सुरक्षा का क्लॉज भी डला हुआ है।

हादसे के बाद सूरत पहुंचे गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अस्पताल जाकर घायलों से मुलाकात की। उन्होंने कहा, ‘मुझे जानकारी दी गई है कि सीढ़ियों पर आग लगी देखकर कई लोग बचने के लिए बिल्डिंग की चौथी मंजिल से कूद गए। मैंने जांच के आदेश दिए हैं।’

 

Related posts