सतना: फिरौती लेने के बाद जुड़वा बच्चों को मार डाला, यूपी में मिले शव

सतना। सतना जिले में 12 फरवरी को चलती स्कूल बस से तेल कारोबारी के जुड़वां बेटों को अगवा कर लिया गया था। परिवार से फिरौती भी ले ली। लेकिन बच्चों को परिवार को नहीं सौंपा और उन मासूमों की बेरहमी से हत्या कर दी। पुलिस को दोनों बच्चों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में मिले हैं। सतना एसपी ने इसकी पुष्टि की है।

घटना के बाद से ही शहर में तनाव का माहौल है। वहीं घर में माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। फिलहाल पुलिस ने मासूमों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में छह लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। इस पूरे घटनाक्रम के बाद पुलिस प्रशासन पर सवाल उठ रहे है कि फिरौती देने के बाद भी आखिर क्यों वह दोनों बच्चों को बचा नहीं पाई।

चित्रकूट में तनाव के हालात

घटना की खबर मिलने के बाद चित्रकूट में तनाव के हालात हैं, यहांं धारा 144 लागू कर दी गई है। आक्रोशित लोग सड़कों पर उतर आए हैं। भीड़ पुलिस की तरफ झपटी तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले फेंके। इसमें स्थानीय लोग और दर्शनार्थी भी घायल हो गए। इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। जानकारी कुंड इलाके में लोगों ने जाम लगाकर पुलिस और सद्गुरु सेवा ट्रस्ट के खिलाफ नारेबाजी की। पूरे इलाके में तीन से चार हजार की संख्या में लोग जुटे हुए हैं। पूरा बाजार बंद है, वहीं यात्री बसें और ऑटो भी एक-दो ही चल रहे हैं। बताया जा रहा है कि कल रात को ही सतना जिले से अतिरिक्त पुलिस बल सुरक्षा व्यवस्था के लिए चित्रकूट बुलाया गया था।

Image result for चित्रकूट में तनाव के हालात

बच्चों ने आरोपियों को पहचान लिया था

सतना एसपी के अनुसार चित्रकूट नयागांव थाना क्षेत्र सद्गुरु सेवा ट्रस्ट एसपीएस स्कूल से पिस्टल की नोंक पर तेल व्यवसायी ब्रजेश रावत के दोनों जुड़वा बच्चों का बीती 12 फरवरी को अपहरण कर लिया गया था, जिसके बाद से पुलिस लगातार जांच में जुटी थी। इन मासूम बच्चों का शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की यमुना नदी बबेरू घाट से मिले है। दोनों शवों की पहचान कर ली गई है और फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मासूमों ने बदमाशों को पहचान लिया था, अपनी पहचान छुपाने के लिए उन्होंने बच्चों के हाथ बांधकर उन्हें नदी में फेंक दिया। दोनों शिवम और देवांग के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में नदी के पास मिले। इस मामले में पुलिस ने 6 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों बच्चों की उम्र 5 साल थी।

12 फरवरी को हुआ था अपहरण

यह घटना 12 फरवरी की है। सतना जिले के चित्रकूट में तब हुई जब बाइक सवार दो नकाबपोश बदमाश ने स्कूल बस को रुकवाया और उस पर चढ़ गए। उसके बाद उन्होंने बंदूक की नोंक पर बच्चों का अपहरण किया। वारदात में साढ़े पांच लाख के इनामी अंतरराज्यीय गैंग सरगना बबुली कौल का हाथ होने की आशंका जताई जा रही थी। अपह्रत बच्चे पांच वर्षीय श्रेयांश और प्रियांश रावत जुड़वां भाई हैं और उनके पिता ब्रजेश रावत हिमशंकर विजय तेल के बड़े कारोबारी हैं। वे छुट्टी के बाद चित्रकूट के स्कूल से सतना वापस आ रहे थे।

Image result for चित्रकूट में तनाव के हालात

 

Related posts

One Thought to “सतना: फिरौती लेने के बाद जुड़वा बच्चों को मार डाला, यूपी में मिले शव”

  1. Imran

    Mujhe is puri khabar me jin 5 apradhiyon KO pakda gaya h unme se ek kaa bhi naam nahi likhaa h Kyuuuuu???????

Comments are closed.