सतना पुलिस की नाकामयाबी का असर, 6 लाख की फिरौती के बाद आज़ाद हुआ किसान अवदेश

सतना। सुर्खियों में चल रहे किसान के अपहरण का मामला अब सुलझ गया हैं। बता दे कि किसान अवधेश समदड़िया जो पिछले शनिवार से लापता थे अचानक आज गुरुवार सुबह 4 बजे घर को लौट आए। अवदेश की गुमशुदगी का शक सीधे सीधे बबली कोल गिरोह पर गया था जिसके बाद गिरोह ने अवदेश की रिहाई के बदले परिजनों से फिरौती में 50 लाख रुपए मांगे थे। सूत्रों से पता चला है कि गिरोह ने 6 लाख की फिरौती वसूली है। हालांकि पुलिस का दावा है कि दबाव बढ़ने के कारण डकैत गिरोह ने अवधेश को छोड़ा है। बबली कोल गिरोह ने पिछले शनिवार को किसान अवधेश समदड़िया को उनके घर से उठा लिया था। डकैतों ने रात दो बजे घर पर धावा बोला और अवधेश के नौकर को बंदूक की नोक पर अपने कब्ज़े में ले लिया। डकैतों के कहने पर नौकर ने घर की कुंडी खटखटायी तो अवधेश ने दरवाज़ा खोल दिया। दरवाज़ा खुलते ही डकैतों ने अवधेश को अगवा कर लिया। अगवा करने के बाद बबली कोल गिरोह ने परिवार से 50 लाख की फिरौती मांगी थी। गिरोह बार-बार फोन कर घरवालों को फिरौती के लिए धमका रहा था लेकिन पुलिस डकैतों को पकड़ नहीं पा रही थी। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की 12 पुलिस टीम तलाश में लगायी गयी थीं। मानिकपुर से सटे जंगल नन्ही चिरैया में डकैतों की आखिरी लोकेशन मिली थी। डकैत लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे थे। पुलिस डकैतों और किसान का सुराग नहीं लगा पायी।

लेकिन अब जब किसान खुद घर को लौट आया हैं पुलिस को आत्मचिंतन करना आवश्यक हैं कि कब तक ऐसे गिरोह इलाके में सक्रियता से अपना दम खम दिखाते रहेंगे और रहवासियों को भयभीत करते रहेंगे।

Related posts