सतना कांड पर राजनीति करने के बजाए अपराधियों की फांसी पर बात करें: जीतू पटवारी

सतना। सतना जिले के चित्रकुट से बच्चों के किडनैप और हत्या मामले ने मध्यप्रदेश की राजनीति में उबाल ला दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश को अपराध का टापू बताते हुए मुख्यमंत्री कमल नाथ के इस्तीफे की मांग की है। वहीं जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने योगी से इस्तीफा मांगा है। शर्मा ने इस हत्याकांड के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा ‘घटना के लिए यूपी सरकार दोषी है। क्योंकि हत्या यूपी में हुई और इस तरह के गिरोह यूपी से संचालित होते हैं। मामला दो राज्यों से जुड़ा होने के कारण राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी कड़ी में कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी ने बयान देते हुए कहा कि सतना कांड पर राजनीति न करते हुए अपराधियों को फांसी की सजा दिलाने के बारे में बात करनी चाहिए।

उच्च शिक्षा व खेल मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि यूपी और एमपी की पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में बच्चों की जान बचाना पहली प्राथमिकता थी न कि अपराधियों को पकड़ना। हालांकि अपराधी ट्रेस कर लिए गए थे। लेकिन अपराधियों ने पुलिस को भर्मित करके बच्चों को जिंदा पानी में फैंक दिया। इस हत्याकांड के बाद सरकार दुखी है। खेल मंत्री ने कहा कि ऐसी घटनाओं पर राजनीति करना लोकतंत्र के लिए खतरा है। इस हत्याकांड के अपराधियों को फांसी की सजा दिलाना सरकार की प्राथमिकता रहेगी। इसमें कोई शक नहीं कि पुलिस ने कार्रवाई में तेजी न दिखाते हुए ढीला रवैया अपनाया है।

Related posts