शहर में संचालित करोड़ों के सट्टे के अड्डे का ख़ुलासा

Featured Video Play Icon

-अनम इब्राहिम

“`थाना शाहजहांनाबाद ड्रम,पिपो से भरकर सटोरी बटोर रहे हैं मोटी रक़म और कटोरे भर-भर के दे रहे हैं थाना स्तरीय पुलिस को!! देखिए सट्टे के सोदेबाज़ों का जनसम्पर्क-life पर खुला कारोबार!!!“`

*जनसम्पर्क-life*

*भोपाल:* आदर्श आचारसंहिता चल रही हो आईबी,NIA का पहरा हो या हो DGP, IG,DIG का फ़रमान लेकिन अपराधियों से अवैध धंधा करवाने वाले सालों से एक ही थानों में जमे ख़ाकीधारी अपने ही अफ़सरों पर पूरी तरह पड़ रहे हैं भारी। राजधानी के एक दर्ज़न से भी ज़्यादा थाना स्तर में वर्षों से जमे हुए अवैध कारोबारों का बाल भी बाका आज तक कोई नहीं कर पाया। वजह महज़ स्थानीय पुलिस की ज़ेर-ए-निगरानी में ये कारोबार अपराधियों द्वारा संचालित होते आए हैं थाना स्तरीय ख़ाकीधारी आदर्श आचारसंहिता को आम का अचार समझते हैं और अपने अफ़सरों के हुक्म को नज़रअंदाज़ करते चले जाते हैं अगर अफ़सरों द्वारा सट्टे,जुए शराब चरस, गांजे व नशीले अड्डों पर रेट करने का प्लान बनाया भी जाता है तो ख़ाकी की आस्तीन में छुपे सांप अवैध कारोबारियों को पहले ही इत्तेला कर चौकन्ना कर देते हैं। बहरहाल एक साथ तमाम थानों की हदों में पनपते अवैध कारोबारों के क़िस्से बयां कर पाना तनिक मुश्किल सा है मियां इसलिए बारी-दर बारी परत हटाने की हम क़वायद करते हैं!
थाना शाहजहांनाबाद वाजपाई नगर पुलिस चौकी की मल्टियों में आदतन अपराधियों के जिस्म में इन दिनों मानों जैसे हिंदुस्तान के सट्टा किंग रतन खत्री की आत्मा समा गई है मल्टी में सट्टे के सौदागरों द्वारा हाई क्वालिटी के नाईट विज़न सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं साथ ही बाहर पहरा देने के लिए चार-चार बन्दों को मोबाईल लेकर तैनात भी किया गया है अगर कोई भी ख़तरा हो तो वो पहले ही भांप लिया जा सके। लिहाज़ा इतने इन्तेज़ामों के सहारे ही नहीं चल रहा यहां करोड़ो के सट्टे का कारोबार अगर कोई बड़ा अफ़सर यहां रेट मारने के लिए टीम बनाकर भेजता भी है तो दबिश देने वाली टीम से पहले ही थाना स्तरीय ख़ाकीधारी मुखबिर सट्टा माफियाओं को चौकन्ना कर सूपड़ा साफ़ करवा देंते हैं। मामला थोड़े ही समय पूर्व का है वाजपाई नगर मल्टियों में जब पुलिस की एक टीम दबिश देने पहुंची तो उसके आधा घण्टे पहले ही ख़ाकीधारी मुखबिर ने सटोरियों को सूचना देकर सम्भलने की हिदायत दे डाली जिसके बाद तत्काल ही सटोरियों ने नोटों से भरे पीपे,थैले व सट्टे के समान को बटोरकर मल्टी के दूसरे फ्लेट में शिफ्ट करवा दिया। दरअसल वाजपाई नगर मल्टी में भूरा मल्टी नामक बदमाश की बहन और सागर व अन्य सटोरी माफियाओं द्वारा बहुत बड़े पैमाने पर सट्टा संचालित किया जा रहा है जिस अवैध कमाई का एक हिस्सा चंद स्थानीय पुलिस वालों में भी तक़सीम किया जाता है यहीं वजह है कि चाहकर भी इस कारोबार को मुक़म्मल तरह से बन्द करने में अफ़सरों की क़वायद अक्सर बेअसर साबित होते जा रही है…. खैर अगली ख़बर में नामजद देखिए उन अवैध कारोबारी ख़ाकीधारियों के खुलासे।

किस तरह दिनदहाड़े भीड़भाड़ वाली सड़को पर चंद पुलिसकर्मी खिलवा रहे हैं जुआं???? जिसे जानकर उड़ जाएंगे आप के होश

पढ़ना व देखना ना भूलें *जनसम्पर्क-life* का सनसनीखेज़ ख़ुलासा

Related posts