शराबी गाड़ी चालक पर भोपाल कोर्ट ने ठोका 10,000 से ज़्यादा का जुर्माना

भोपाल: हालांकि मध्यप्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार के नए मोटर व्हीकल एक्ट 2019 के प्रावधानों को सिरे से नकारते हुए इन प्रावधानों के तहत जुर्माना राशि बढाने पर आपत्ति जताई हो लेकिन इससे साफ विपरीत भोपाल कोर्ट ने कुछ अटपटा फैसला सुनाते हुए बुधवार को एक शख्स पर 10,500 का जुर्माना लगाया हैं। शख्स पर शराब पीकर गाड़ी चलाने के आरोप के साथ साथ बिना हेलमेट के गाड़ी चलाने का भी आरोप हैं।
पुलिस ने मंगलवार को ही सुनील ओसवाल नाम के शख्स की गाड़ी सीज कर ली थी। घटना गणेश मंदिर के पास की हैं। पुलिस ने चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट विनोद कुमार पाटीदार को सौंपी गयी रिपोर्ट में लिखा था कि शख्स न केवल शराब पीकर गाड़ी चला रहा था बल्कि उसके पास न तो ड्राइविंग लाइसेंस था, न ही उसने हेलमेट पहन रखा था।
सीजेएम कोर्ट ने अपने बुधवार को दिए गए अपने आदेश में कहा कि शराब पीकर गाड़ी चलाने के लिए, बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाने के लिए 5000 रुपये शख्स को देने होंगे। कोर्ट ने हेलमेट न पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया है।
इस जुर्माने पर बदलाव भी हो सकता है, क्योंकि मध्य प्रदेश सरकार ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को यथावत लागू करने की मंजूरी अभी तक नहीं दी  है। राज्य सरकार ने यह जता दिया है कि मोटर व्हीकल एक्ट के भारी भरकम जुर्माने को नए कानून के प्रावधानों के तहत पूरी तरह से लागू नहीं किया जाएगा।

Related posts