वीरेंद्र सहवाग की पत्नी के साथ बिजनेस पार्टनर ने की धोखाधड़ी, नकली हस्ताक्षर कर 4.5 करोड़ रुपये का लोन लिया

नई दिल्ली। भारत के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग की पत्नी आरती धोखाधड़ी का शिकार हुई हैं। आरती के साथ धोखाधड़ी उन्हीं के बिजनेस पार्टनर रोहित कक्कर ने की है। आरती ने रोहित कक्कर पर उनके नकली हस्ताक्षर करके 4.5 करोड़ रुपये का लोन लेने और फिर उसका भुगतान न करने का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया है। इसमें उन्होंने कहा कि उनके बिजनेस पार्टनर ने उनके फर्जी सिग्नेजर के जरिए 4.5 करोड़ रुपए का लोन ले लिया और अब वह चुका नहीं रहा है।

आरती ने बताया कि वो रोहित कक्कर नाम के एक शख्स की फर्म में पार्टनर बनी थीं। दिल्ली के अशोक विहार बेस्ड फर्म पर आरती सहवाग का आरोप है रोहित कक्कर समेत करीब 6 दूसरे लोगों ने उनके साथ धोखा किया। आरती के मुताबिक, पति वीरेंद्र सहवाग का नाम का इस्तेमाल करके रोहित कक्कर समेत दूसरे पार्टनर्स ने दूसरी फर्म से करीब साढ़े चार करोड़ रुपए का लोन ले लिया, जिसके लिए आरती सहवाग के फर्जी सिग्नेचर भी कर दिए। जबकि पार्टनर बनते वक्त तय हुआ था कि बिना उनकी परमिशन के कोई काम नहीं होगा।

2004 में हुई थी सहवाग-आरती की शादी
आपको बतां दे कि वीरेंद्र सहवाग ने अपने बचपन की दोस्त आरती से 14 साल की दोस्ती के बाद अप्रैल 2004 में शादी की थी। सहवाग और आरती के दो बेटे हैं, आर्यवीर और वेदांत। 2011 में सहवाग ने झज्जर में सहवाग इंटरनेशनल स्कूल की शुरुआत की थी।

Related posts