मध्यप्रदेश विधानसभा: अटल की यादों में डूबा पक्ष-विपक्ष!

अनम इब्राहिम

दुनिया से अलविदा कह चुके राजनीतिक क़िरदारों के किस्से गुनगुनाता मध्यप्रदेश का सदन!!

जनसम्पर्क -life

मध्यप्रदेश: आज विधानसभा सत्र की शुरआत दुनिया से रुख्शत हो चुके नामचीन नेताओ की यादों की दीवारों को खरोचते हुए नज़र आई जिसमे सम्मानीय स्वर्गवासियों के 14 नामो को शामिल किया गया जहां सबसे अव्वल स्थान पर अटल बिहारी वाजपेयी का नाम था। सत्र के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जज़्बाती होकर सत्र के दरमियां बातों ही बातों में अटल की यादों को कुरेद कर तरो-ताज़ा कर दिया जिसे सुन विपक्ष भी नाथ का दीवाना बन विरोधी हथियार बाहर नही निकाल पाया। खैर नाथ की जुबां जब अटल की क़ाबिलयत के किस्से दोहराने लगी तो भला विपक्ष के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव कहां पीछे रहते गोपाल भार्गव ने भी अटल व अन्य स्वर्गवासी सियासी हस्तक्षेप रखने वालों की तारीफ़ कर आत्मा की शांति ज़ुबानी तौर ओर प्रातना की तो वहीं उनके बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अटल के साथ गुज़ारे हुए पलो को दोहराकर बीती यादों को जिंदा कर दिया। लिहाज़ा दुनिया को अलविदा कह चुके सियासी क़िरदारों के ज़िक्र को मौज़ूदा हुकूमती शख्सियतों की जुबां सुन सभी सदस्यगण के चेहरे भावुकता से तर नज़र आने लगे जिसके बाद स्पीकर ने एलान कर सभी स्वर्गीय सियासी आत्माओं के लिए खड़े होकर कुछ देर के लिए शांति इख्तियार करने की हिदायत दी।
हमे भी चाहिए की दुनिया से जुदा हो चुके देश के बड़े सियासी क़िरदारों के लिए समय-समय पर प्राथना कर आत्मा की शांति के लिए दुआ करते रहे क्यों कि ये लोग तो संसार से कूँच कर चुके लेकिन इनके देश हित मे किये हुए कार्य अभी जिंदा है जिससे देश और देश वासियों को निरन्तर लाभ मिलता रहता है।

Related posts