*वतन के तरानों को दरकिनार कर सरहदों पर लड़ने के लिए उतारू: #विधायक आरिफ़ मसूद!!*

Featured Video Play Icon

जनसंपर्क life

फ़िरोज़ा पठान

+91 7771851163

भोपाल। मध्यप्रदेश की दहलीज़ पर क़दम रखते ही हर प्रांत के प्राणियों के ह्रदय के भीतर सम्पुर्ण मध्यप्रदेश में अंतरराष्ट्रीय राजनेतिक क़िरदार किसी नेता में उबलता खोलता और हर ज़ुबानों पर खलबली मचाता दिखता है तो वो सियासत की अव्वल कतार पर खड़ा है। भोपाल मध्य विधानसभा के विधायक, काँग्रेस के वरिष्ठ जुझारू नेता और राष्ट्रीय स्तर पर मुस्लिम खेमो की रहबरी करने वाले आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मेम्बर आरिफ़ मसूद। जी हाँ मसूद इन दिनों मध्यप्रदेश की सियासत में शहंशाही के रथ पर सवार हैं और उनकी सत्तापक्षी शख़्सियत को देखकर विरोधी राजनीतिक पार्टी बीजेपी भी राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा करने के कारनामे कर रही है। बता दें कि अगर मसूद के दो लिबाज़ सियासत व धार्मिक खेमो की ख़ादी उतार कर भी देखेंगे तो वो हर मज़हब के गरीबों मज़लुमो के लिए राहत का फ़रिश्ता नज़र आयेगे। मसूद का मिज़ाज भाषण बाज़ी तक ही सीमित नहीं रहा है बल्कि जब वो सत्ता से साथ समन्दर पार थे तब भी आरिफ मसूद जनता के मसलों के लिए पूर्व की सरकारों से भिड़ जाते थे साथ ही जब कांग्रेस दो ग़ज़ ज़मीन के नीचे दफ़न हो चुकी थी उस वक़्त भी प्रदेश की राजधानी में दो ही शेर थे जो जो दफ़न सियासी लाश को खोदकर जिंदा करना चाहते थे pc शर्मा और आरिफ़ मसूद। आज जब सत्तापक्षी सियासी ताजपोशी मसूद के सर पर सवार हो गई है तो वो और भी संजीदा हो उठे हैं।

हाल ही में जब मसूद से मीडिया सैनिकों की शहादत पर सवाल दागा तो भभुक्ता से तर हो उठे मसूद ने कहा कि सियासी मंचों पर सिर्फ़ राष्ट्रीय तराने गा कर नेता सो पांच सौ लोगो को एक साथ कर शहीदों के लिए महज़ भाषण देते हैं परन्तु उनके साथ सरहदों पर खड़े होकर लड़ते नही हैं। मसूद ने साथ ही कहा कि अगर मेरे सियासी विरोधी मुझे बॉर्डर पर दुश्मन मुल्क़ से लड़ने के लिए कहेंगे तो में देश की हिफाज़त के लिए हर हद तक तैयार हूं। परन्तु वन्देमातरम कहकर किसी को सबूत नही दूंगा।

Related posts