वडोदराः सीवेज टैंक में मल साफ करते-करते मर गए 7 मजदूर

वडोदरा। पीएम नरेंद्र मोदी कहते हैं कि देश में बहुत विकास हो रहा है। अच्छी सड़कें बन रही हैं, पिछले 70 सालों में जहां बिजली नहीं पहुंच पाई थी, अब वहां भी पहुंच गई है। ट्रेनों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है। डिजिटल इंडिया तैयार हो रहा है। लेकिन कुछ नहीं हो पा रहा है, तो वह है हर पांचवें दिन हमारा और आपका ‘मल’ साफ करते-करते मर जाने वाले सफाई कर्मचारियों का। जी हां सीवर सफाई के दौरान हादसों में मजदूरों की दर्दनाक मौतों की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। एक महिने पहले पश्चिम दिल्ली में मकान के सीवेज टैंक की सफाई करते वक्त दो मजदूरों की मौत हो गई थी। फिर ऐसा ही एक हादसा सामने आया गुजरात के वडोदरा में। जहां डभोई तहसील में एक होटल की सीवेज टैंक साफ करने उतरे सात मजदूरों की दम घुटने से मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि फरती कुई गांव के निकट दर्शन होटल के गटर (स्थानीय खार कुंआ) में तड़के सफाई करने उतरे सात लोगों की मौके पर मौत हो गई।

घटना शुक्रवार रात की है। होटल के 4 कर्मचारी सीवर में सफाई के लिए घुसे थे। काफी देर के बाद जब वे बाहर नहीं निकले तो उन्‍हें ढ़ूंढने के लिए होटल के 3 और कर्मचारी सीवर में उतर गए। ये तीनों भी बाहर नहीं निकले। इसके बाद फायरब्रिगेड ने आकर सभी को बाहर निकाला। प्राथमिक अनुमान के अनुसार सीवर की जहरीली गैस के संपर्क में आने पर उनकी मृत्‍यु हुई है।

Related posts