लोकसभा: भोपाल से ‘दिग्गी राजा’ का नाम फाइनल

भोपाल। लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। मध्यप्रदेश की राजनीति की बात की जाए और उसमें पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजयसिंह का ज़िक्र न हो तो बात अधूरी सी लगती है। दस साल तक राजनीति से दूर रहने के बाद भी आज भी देश की राजनीति में उनका अलग ही रूतबा है। उनके बयानों से मीडिया से लेकर राजनीतिक दलों में हलचल पैदा हो जाती है। दिग्विजयसिंह को उन चुनिंदा नेताओं में गिना जाता था, जो अपनी रणनीति के दम पर राजनीतिक समीकरण बदल सकते हैं। उनका रूतबा ही है कि उन्हें बीजेपी के मजबूत गढ़ भोपाल लोक सभा सीट से चुनाव लड़ने का टिकिट मिला है। इसकी घोषणा मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक कार्यक्रम के दौरान पत्रकार वार्ता में की।

उन्होंने कहा कि भोपाल सीट से केवल मात्र एक ही नाम फाइनल हुआ है वो नाम दिग्विजय सिंह का है। दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में यह तय हो गया है कि दिग्विजय सिंह भोपाल से ही चुनाव लड़ेंगे। इस बात से कांग्रेस खेमे में खुशी की लहर है।

कमलनाथ ने कहा, ‘केंद्रीय चुनाव समिति ने तय कर लिया है कि दिग्विजय सिंह भोपाल से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। इस नाम की मैं घोषणा कर सकता हूं। दिग्विजय सिंह को इंदौर, जबलपुर अथवा भोपाल से चुनाव लड़ने के लिए कहा गया था। अंत में तय हुआ है कि दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव लड़ेंगे।’ कमलनाथ ने पिछले दिनों कहा था कि दिग्विजय सिंह को कठिन सीट से चुनाव लड़ना चाहिए, लिहाजा कमलनाथ द्वारा कही गई बात पर केंद्रीय चुनाव समिति ने भी मुहर लगा दी है। भोपाल वह संसदीय क्षेत्र है, जहां लंबे अरसे से कांग्रेस को जीत नहीं मिली है।

Related posts