रेत का अवैध उत्खनन जारी, प्रशासन बना अंजान

पिपरिया। प्रशासन की सख्ती के बाद भी रेत माफियाओं द्वारा रेत अवैध उत्खनन और परिवहन पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। रेत माफिया बेखौफ होकर रेत का उत्खनन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अवेध रेत के उत्खनन को बंद करने का आदेश दिया था। लेकिन उनके आदेश के बावजूद बीजेपी सरकार के बचे हुए नुमाइंदे अभी भी अवैध रेत उत्खनन में पूर्णत संलिप्त हैं। बीजेपी पार्षद कस्तूरा वार्ड पिपरिया के मकान के सामने खाली पड़े हुए लगभग ढाई हजार स्क्वायर फुट के प्लाट में रोज रात को अवैध रेत रखी जाती है एवं सुबह के समय उठाई जाती है।

बीजेपी पार्षद बृजेश दुबे से जब इस बारे में बात की गई तो उनका कहना था की रेत अवैध है। इससे मोहल्ले वालों को परेशानियां होती हैं। साथ ही शासन-प्रशासन भी इसका कोई विरोध नहीं करता है। इसकी जानकारी प्रशासन को भी है कि यहां पर रेत का विस्तार किया जा रहा है। लेकिन सब कुछ जानने के बाद भी प्रशासन अंजान बना हुआ है। उन्होंने मजबूरी भी जताई कि जो लोग रेत का अवैध स्टॉक कर रहे हैं लेकिन वह उनको मना नहीं कर पा रहे हैं।

Related posts