रिश्वत का खेल जारी: 10 हजार की रिश्‍वत लेते ग्राम पंचायत सचिव पकड़ाया

नीमच। देश मे रिश्वत का खेल जारी है। सरकार कितनी भी सख्त क्यों ना हो जाये भष्टाचार तो ऐसे ही चलता रहेगा। ताजा वाक्या मध्यप्रदेश के नीमच जिले के ग्राम पंचायत उम्मेदपुरा तहसील जावद में देखने को मिला। जहां चंद रूपयों के लिए ग्राम पंचायत सचिव का ईमान डोल गया और उन्होंने वह शर्मनाक करतूत कर डाली जिसने उनके पद को दागदार कर दिया। उज्‍जैन लोकायुक्‍त पुलिस ने ग्राम पंचायत सचिव को 10 हजार रुपये की रिश्‍वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। सचिव ने सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी के एवज में आवेदक से रिश्‍वत की मांग की थी। जिसकी शिकायत आवेदक ने लोकायुक्‍त से की थी।

जानकारी के अनुसार, जिले के एमआईजी-3 इंदिरा नगर निवासी मोहम्मद हारून नीलगर पिता पीर मोहम्मद ने पिछले दिनों सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगने आवेदन दिया था। लेकिन यहां पदस्‍थ सचिव मोहननाथ योगी ने आवेदक से जानकारी देने के एवज में 10 हजार रुपये की रिश्‍वत की मांगी की। जिसकी शिकायत आवेदक ने उज्जैन लोकायुक्त पुलिस को की। शिकायत के बाद लोकायुक्‍त टीम ने बुधवार को योजनाबद्ध तरीके से ग्राम पंचायत सचिव मोहननाथ को आवेदक से 10 हजार की रिश्‍वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। टीम ने पंचायत सचिव के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।

Related posts