रिटायर्ड SDO के ठिकानों पर EOW की रेड, करोड़ों की संपत्ति का हुआ खुलासा

जबलपुर। प्रदेश में सरकारी अफसरों के पास से आय से अधिक बेशुमार संपत्ति मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। आयकर विभाग, लोकायुक्त और ईओडब्ल्यू एक के बाद कमीशनखोरों के नाम उजागर कर रही है। इसी कड़ी में जबलपुर में ईओडब्ल्यू की छापेमारी के दौरान पीएचई विभाग के रिटायर्ड अधिकारी सुरेश उपाध्याय करोड़ों की संपत्ति का ख़ुलासा हुआ है। मंगलवार को पीएचई विभाग से एसडीओ की पोस्ट से रिटायर हुए सुरेश उपाध्याय के घर और दफ्तर सहित 4 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। सुरेश उपाध्याय के खिलाफ यह कार्रवाई आय से अधिक संपत्ति के मामले में हुई थी।

Image result for रिटायर्ड अधिकारी सुरेश उपाध्याय

ईओडब्ल्यू की टीम ने बिलहरी स्थित उपाध्याय के घर और अन्य चार स्थानों पर भी छापेमारी की। ईओडब्ल्यू की टीम ने सुरेश उपाध्याय के पैतृक निवास भीटा कजरवारा सहित सदर में उनके कार्यालय में भी कार्रवाई की है। जांच में ईओडब्ल्यू को आय से अधिक संपत्ति की जानकारी मिली है। जब ईओडब्ल्यू की टीम ने सुरेश उपाध्याय के घर पर छापेमारी की उस समय उनका पूरा परिवार सो रहा था।

सुरेश उपाध्याय का बिलहरी में जिस जगह बंगला है उसकी कीमत ही करोड़ों में आंकी जा रही है। इसके अलावा पीएचई से रिटायर अधिकारी के पास आधा दर्जन से ज्यादा चार चक्के की गाड़ियां भी मिली है। अभी तक की जांच में ईओडब्ल्यू ने पाया है कि पीएच अधिकारी सुरेश उपाध्याय ने अपनी काली कमाई पत्नी, बेटे और बेटी के नाम भी की है।

एसडीओ सुरेश उपाध्याय की पत्नी अनुराधा उपाध्याय बीजेपी से पार्षद भी रह चुकी हैं। सुरेश उपाध्याय का बेटा सचिन उपाध्याय बिल्डर है, जिसकी पार्टनरशिप शहर के कई नामी बिल्डर्स के साथ भी रही है। फिलहाल ईओडब्लू की जांच जारी है और ईओडब्लू के एसपी देवेन्द्र सिंह राजपूत का कहना है कि जांच पूरी होने पर और भी कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

Related posts