रिटायर्ड सचिव के ठिकानों पर लोकायुक्त की रेड, पद का दुरूपयोग कर बनाई करोड़ों की जायदाद

भोपाल। आय से अधिक संपत्ति रखने वालों पर लोकायुक्त द्वारा शिकंजा कसा जा रहा है। एक के बाद एक अधिकारियों पर लोकायुक्त की गाज गिर रही है। एक बार फिर लोकायुक्त ने एक रिटायर्ड अधिकारी के घर छापामार कार्रवाई की। टीम ने आज शनिवार सुबह कृषि उपज मंडी, आगर मालवा से रिटायर्ड सचिव आनंद मोहन व्यास और उनके भाई लेखापाल परमानंद व्यास के तीन ठिकानों पर रेड डाली। लोकायुक्त की टीम की जांच जारी है, परमानंद व्यास वर्तमान में शुजालपुर कृषि उपज मंडी में लेखापाल के पद पर पदस्थ है।

जानकारी के अनुसार, लोकायुक्त को कई दिनों से शिकायत मिल रही थी कि मंडी सचिव पद का दुरुपयोग करते हुए आनंद मोहन व्यास ने भ्रष्टाचार किया एवं कालेधन से करोडों की संपत्ति बनाई। जांच में शिकायत सही पाई गई थी। इसके बाद उज्जैन लोकायुक्त की टीम ने भोपाल, पचोर और शुजालपुर में एक साथ छापामार कार्रवाई की है। भोपाल में लोकायुक्त के डीएसपी शैलेंद्र सिंह ठाकुर के नेतृत्व में टीम ने होशंगाबाद रोड स्थित कोरल वुड कॉलोनी के एक फ्लैट में छापा मारा। इस कार्रवाई में लोकायुक्त टीम को अभी तक भोपाल में 2 फ्लैट, एक ऑफिस और 2 गाड़ियों की जानकारी मिली हैं। लोकायुक्त को जमीनों के कागजात और बैंक एकाउंट भी मिले हैं।

Related posts