रायसेन: ठंड से बचने के लिए सिगड़ी जलाकर सोया परिवार, दम घुटने से 4 की मौत

रायसेन। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लगे मंडीदीप की एक रहवासी कालोनी में 24 घंटे से बंद मकान में 2 बच्चों सहित 4 लोगों के शव मिलने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामला संदिग्ध और पुलिस मामले से जुड़े तमाम पहलुओं पर जांच कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, घटना मंडीदीप वार्ड 23 के हिमांशु कालोनी की है जहां के मकान नम्बर सी 55 में सन्नू भूरिया अपने परिवार के साथ रहता है। सन्नू के पड़ोसी नितिन चौहान ने पुलिस को बताया कि शाम करीब 7 बजे सन्नू को किसी काम के लिए आवाज लगाई तो कोई जबाब नहीं आया, आसपास के कुछ लोगों को बताकर फिर आवाज लगाई तो अंदर से बहुत धीमी आवाज सुनाई दी। इसके बाद डायल 100 को सूचना देकर मौके पर बुलाकर दरबाजा खटखटाया, दरवाज़ा नहीं खुलने पर पुलिस ने दरवाजा तोड़ दिया। दरवाजा खुलने के बाद घर के भीतर पांच लोग अचेत अवस्था में मिले।

पुलिस ने जब उन्हें हिलाकर देखा तो सन्नू की सांस चल रही थीं जबकि उसकी पत्नी पूर्णिमा, 12 दिन की बेटी और कुछ दिन पहले महाराष्ट्र के गोंदिया से आए 11 वर्षीय साले आकाश और सास दीपलता की मौत हो चुकी थी। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

पुलिस के मुताबिक, सन्नू भूरिया परिवार के साथ किराए के मकान में रहता है। वह एक निजी कंपनी में काम करता है। हालत नाजुक होने के कारण वह बात नहीं कर पा रहा है। पुलिस ने उसके घर से उसकी पत्नी पूर्णिमा, 12 दिन की बच्ची के अलावा दीपलता और आकाश की लाश बरामद की है।

शुरूआती जांच के आधार पर यह कहा जा रहा है कि चारों लोगों की मौत सिगड़ी के कारण हुई। ठंड की वजह से परिवार रात में सिगड़ी जलाकर सो गया था और दम घुटने से चारों लोगों की मौत हो गई। लेकिन कहा यह भी जा रहा है कि यदि सभी घर वालों पर सिगड़ी का असर हुआ तो सन्नू को कोई फर्क क्यों नहीं पड़ा।

Related posts