यूपी में जहरीली शराब का कहर: 10 की मौत, चार लोग एक ही परिवार के सदस्य

बाराबंकी। योगी आदित्यनाथ का उत्तर प्रदेश अवैध शराब के धंधे के लिए बदनाम है। यह धंधा बेहद खतरनाक होता जा रहा है। गांवों में धधक रहीं शराब की भट्ठियां काफी जानलेवा हो रही हैं। अवैध शराब के कारोबार पर रोक लगाने में प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है। तीन महिने पहले कुशीनगर और उत्तराखंड मेंं जहरीली शराब के सेेवन से 82 लोगों की मौत हो गई थी अब प्रदेश के बाराबंकी जिले के रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई। रामनगर के पुलिस क्षेत्राधिकारी पवन गौतम के मुताबिक रानीगंज गांव और उसके आसपास के छोटे गांवों के कई लोगों ने सोमवार/मंगलवार की दरमियानी रात को शराब पी थी, उसके बाद उनकी तबीयत खराब हो गई। इसी बीच उनमें से एक-एक कर कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि अब तक करीब 10 लोगों के मरने की खबर मिल रही है, लेकिन उनमें से अभी तक 5 की मौत की ही पुष्टि हो पाई है। मरने वालों में 4 एक ही परिवार के सदस्य हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है। गौतम ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। यूपी के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया, एक जिला प्रशासन अधिकारी, आठ पुलिसकर्मियों को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जहरीली शराब से हुई मौतों पर गहरा अफसोस जाहिर करते हुए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को फौरन मौके पर पहुंचकर सहायता उपलब्ध कराने के आदेश दिए हैं। साथ ही उन्होंने इस घटना के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ बेहद सख्त कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री ने आबकारी विभाग के प्रमुख सचिव को भी इस मामले की जल्द से जल्द जांच करने और घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

Related posts