मौसम विभाग की चेतावनी, मप्र-दिल्ली-यूपी सहित 19 राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

नई दिल्ली/भोपाल। पूरे भारत में बारिश का कहर जारी है। दिल्ली-एनसीआर, मध्यप्रदेश, बिहार और उत्तर प्रदेश सहित 19 राज्यों में अगले 48 घंटे भारी बारिश के आसार हैं। दिल्ली-एनसीआर में पिछले तीन दिन से रुक-रुककर बारिश हो रही है, वहीं दिल्ली के अलावा राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी पिछले दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है। मौसम विभाग का कहना है कि यह स्थिति अगले 48 घंटे तक बनी रहेगी। दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर बढ़ गया है। यमुना नदी अब खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। अधिकारियों का कहना है कि यमुना का जलस्तर हरियाणा के हथिनीकुंड बांध से पानी छोड़ने जाने के बाद बढ़ा है। इसके बाद दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में बाढ़ का अलर्ट जारी किया है। वहीं बिहार में मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक राज्य के अधिकांश हिस्सों में बारिश के आसार जताए हैं।

यूपी में बारिश जारी, बचाव कार्य तेज करने के निर्देश
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ व राज्य के अधिकांश जिलों में पिछले दो दिनों से रुक-रुककर हो रही तेज बारश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। कई जगहों पर रेल एवं सड़क यातायात प्रभावित होगा। मौसम विभाग के अनुसार, अभी अगले दो दिनों तक बारिश का दौर जारी रहेगा। उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, दिन में कई जिलों में तेज बारिश होने की उम्मीद है। बारिश की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गयी है। चक्रवाती परिस्थति की वजह से अगले दो तीन दिनों तक मौसम का यही रुख बना रहेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आंधी, तूफान, आकाशीय बिजली और अतिवृष्टि से मारे गए लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने संबंधित जिलाधिकारियों को अपने-अपने जिलों में हुई भारी वषार् से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य युद्घस्तर पर संचालित करने के भी निदेर्श दिए हैं। उन्होंने कहा कि राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

दिल्ली के अलावा, मध्यप्रदेश में एक हफ्ते से ज्यादा से कई स्थानों पर लगातार बारिश हो रही है। लगातार हो रही बारिश के चलते नदी और नालों का जलस्तर बढ़ा है। मध्यप्रदेश की जीवन रेखा कहलाने वाली नर्मदा नदी का जल स्तर भी बढ़ा है। वहीं चंबल संभाग में लगातार बारिश के चलते चंबल नदी का जलस्तर बढ़ा है। स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों ने बताया है कि प्रदेश में मौसम का मिजाज फिलहाल कम से कम दो दिन तक ऐसा ही बना रह सकता है। अभी कम से कम दो दिन तक विशेष परिवर्तन के आसार नहीं है।

राज्य के ग्वालियर, सागर और चंबल संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है। इसके साथ ही भोपाल, जबलपुर और होशंगाबाद संभाग के जिलों में भी कुछ स्थानों पर बारिश या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती है। इसके अलावा रीवा, उज्जैन, शहडोल और इंदौर संभागों के जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

वहीं दक्षिण-पश्चिम मॉनसून हरियाणा, गांगेय पश्चिम बंगाल, झारखंड, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में अति सक्रिय रहा। ओडिशा, पश्चिम राजस्थान, गुजरात, मराठवाड़ा, विदर्भ और आंध्र प्रदेश में मॉनसून कमजोर रहा। अगले 24 घंटे में गांगेय पश्चिम बंगाल मे कहीं-कहीं भारी और कहीं-कहीं अतिवृष्टि का अनुमान है। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, झारखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा,चंडीगढ़, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में अलग- अलग स्थानों पर बहुत तेज बारिश हो सकती है।

इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय , पश्चिम बंगाल के पर्वतीय क्षेत्र, सिक्किम, बिहार, पूवीर् उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पूवीर् राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश और तटीय कनार्टक के अलग-अलग हिस्सों में तेज बारिश होने के आसार हैं।

Related posts