मॉब लिंचिंग: मवेशी चोरी के शक में भीड़ फिर बनी 3 लोगों की कातिल

पटना। देश में लगातार मॉब लिंचिंग की घटनाएं सामने आ रही हैं। झूठी अफ़वाहों के चलते भीड़ ने कई लोगों को मौत के घाट उतारा है। एक ऐसी ही घटना बिहार से सामने आ गई है। यहां के छपरा में पशु चोरी के शक में भीड़ द्वारा तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। हालांकि अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस घटना ने एक बार फिर सवा करोड़ हिंदुस्तानियों को सन्न कर दिया। भीड़ ने घटनास्थल को कसाई खाने से भी बदतर बना दिया।

जानकारी के अनुसार, बिहार के सारण जिले में गुरुवार रात गांववालों ने तीन युवकों की पीट-पीटकर मार डाला। आरोप है कि वे मवेशी चोरी करके पिकअप में ले जा रहे थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने उन्हें पकड़ लिया। पिटाई से दो युवकों ने मौके पर दम तोड़ दिया, जबकि एक की मौत इलाज के दौरान हुई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की वजह गंभीर चोट सामने आई है। मृतक राजू नट, विदेशी नट और नौशाद कुरैशी पड़ोस के गांवों के रहने वाले थे। शुक्रवार सुबह उनके परिजन और रिश्तेदारों ने प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि तीनों युवक चोर नहीं थे, उन्हें साजिश के तहत मारा गया है। प्रदर्शन के दौरान लोगों की पुलिस से हाथापाई भी हुई। भीड़ को काबू पाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

सारण के पुलिस अधीक्षक हरिकिशोर राय ने बताया कि सूचना मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई है। शवों को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

Related posts