मायावती नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, यह है वजह…

लखनऊ। लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रही है वैसे-वैसे राजनीतिक दल भी अपने पत्ते खोल रहे हैं। इसी कड़ी में बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने आज बुधवार को ऐलान किया है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी उन्‍होंने जोर देकर कहा कि उनकी जीत से कहीं ज्‍यादा जरूरी सपा-बसपा गठबंधन की अधिक से अधिक सीटों पर जीत महत्‍वपूर्ण है। मायावती की यह घोषणा काफी अहम है, क्योंकि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का गठबंधन है और यह गठबंधन कई राज्यों में साथ मिलकर चुनाव लड़ रहा है।

मायावती ने यह भी कहा कि वह कहीं से भी चुनाव जीत सकती हैं। उन्‍हें बस नामांकन करना है, बाकी उनके कार्यकर्ता संभाल लेंगे। पर उनकी व्‍यक्तिगत जीत उतनी मायने नहीं रखती, जिनता का सपा-बसपा-रालोद गठबंधन का अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव जीतना। उन्‍होंने कहा, ‘सपा, रालोद के साथ हमारा मजबूत गठबंधन है और हम बीजेपी को जरूर हराएंगे।’

चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करते हुए मायावती ने कहा, ‘मैं इसे लेकर पूरी तरह आश्‍वस्‍त हूं कि मेरी पार्टी मेरे फैसले को समझेगी। मैं अगर चाहूं तो बाद में चुनाव लड़ सकती हूं।’

मायावती ने यह भी कहा कि उन्‍होंने बसपा के आंदोलन को ध्‍यान में रखते हुए राज्‍यसभा से इस्‍तीफा दे दिया था, लेकिन मौजूदा राजनीतिक हालात को देखते हुए उन्‍होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। लखनऊ में संवाददाताओं से बातचीत में में उन्‍होंने कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगी, पर बसपा और बसपा के उम्‍मीदवारों के लिए प्रचार करेंगी।

Related posts