महिला थाना: दहेज में मांगे दो लाख रूपए, नहीं देने पर महिला के साथ की मारपीट गालीगलौज

भोपाल। भारत में साल 1999 से 2018 के बीच एक बात जिसमें ज्यादा बदलाव नहीं आया है, वो है हर साल दहेज से जुड़ी महिलाओं की हत्या, शारीरिक एवं मानसिक प्रताड़ना। आंकड़े दिखाते हैं कि हर साल जान से मारे जाने वाली महिलाओं के करीब 40 से 50 फीसदी मामले दहेज से जुड़े होते हैं। वैसे तो सरकार देश में महिलाओं को सम्मान दिलाने की बात करती है। लेकिन अपने घरों में और अपने ही परिवारजनों से महिलाओं की जिंदगी बचाने की दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठा सकी है। दहेज के लिए महिला के परिवार के लोग उसका पति अत्याचार करने पर उतारू हैं। दहेज के लिए वह किसी भी हैवानियत की हद को पार कर देते हैं। वह यह नहीं सोचते की दहेज में मिली थोड़ी भीख से जिंदगी का गुजारा नहीं चल सकता। दहेज प्रताड़ना से संबंधित एक मामल फिर राजधानी भोपाल के महिला थाने में दर्ज हुआ है।

jansamparklife.com को मिली जानकारी के अनुसार, 22 वर्षीय डॉली सोनेर मकान नंबर 94 प्राइड बिजली कॉलोनी में रहती है। महिला की शादी संतोष गांठे के साथ सितंबर 2017 में हुई थी। शादी के बाद से ही पति संतोष, कड़वी बाई और रमेश गांठे महिला से मायके से दहेज में 2 लाख रूपए लाने का दवाब बना रहे हैं। महिला ने दहेज लाने से साफ इंकार कर दिया तो पति और ससुराल वाले उस पर जुल्म करने लगे। वह आए दिन उसके साथ मारपीट, गालीगलौच करते हैं। इन सबके बावजूद महिला पैसे नहीं लाई तो ससुराल वालों ने उसे जानसे मारने की धमकी दे डाली।

रोज रोज की प्रताड़ता से तंग आकर महिला कल महिला थाने पहुंची और रिपोर्ट लिखवाई। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर पति संतोष, कड़वी बाई और रमेश गांठे के खिलाफ धारा 498ए, 294, 34, 506, 3/4 के तहत दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Related posts