मप्र: 11 महिने बाद आया हत्याकांड का फैसला, आरोपी को उम्रकैद

गुना। गैंती मारकर हत्या करने वाले आरोपित को सत्र न्यायाधीश गुना ने बुधवार को आजीवन कारावास से दंडित किया है। यह फैसला मात्र 11 महीने में सुनाया गया है। लोक अभियोजक अलंकार वशिष्ठ ने बताया कि अभियोजन कहानी के अनुसार घटना 27 अप्रैल 2018 को शाम के समय करीब 5:30 बजे आरोपित लक्ष्मण पुत्र अतर सिंह भील निवासी ग्राम चमऊआ थाना याना शराब पिलाने की बात पर से मृतक हरदास से झगड़ा कर रहा था।

लक्ष्मण ने हरदास को जान से मारने की नीयत से सिर में गैंती मार दी। उसी समय मृतक की पत्नी और पुत्र गांव में हो रहे एक विवाह में से लौटकर घर आए तो अभियुक्त उन्हें देखकर भागने लगा और धमकी दी कि अगर उन्होंने घटना की रिपोर्ट की तो वह उन्हें जान से मार देगा। चोटों के कारण हरदास की मृत्यु हो गई। मृतक की टोड़ी तक मांस फटा हुआ था और 5 पसलियां टूटी थी।

मौके पर अन्य लोगों के आ जाने पर मृतक की पत्नी ने उन्हें भी घटना के बारे में बताया। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कार्रवाई अंजाम दी थी। पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त गैंती जब्त कर समस्त साक्ष्य एकत्रित किए और न्यायालय में अभियोग पत्र प्रस्तुत किया। न्यायालय में अभियोजन एवं बचाव पक्ष की समस्त साक्ष्य और तर्कों को सुनने के पश्चात अभियुक्त के मृतक हरदास की हत्या का दोषी पाते हुए भादवि की धारा 302 के अंतर्गत आजीवन कारावास से दंडित किया।

Related posts