मप्र सरकार की खोखली सफलता की कहानी, मामा के बाद करवा पाए सिर्फ 4 बेटियों की शादी

मध्यप्रदेश: राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना की सहायता राशि में अप्रत्याशित वृद्धि तो की लेकिन ऐसा लगता हैं कि इसका लाभ चन्द ही कुछ लोग ले पाए। शिवराज सरकार के दौरान कन्या विवाह में मिलने वाली 28 हजार की राशि को बढ़ाकर 51 हजार किया गया जिसके बाद जबलपुर जिले की बेटी प्रियंका कोरी और रजनी मल्लाह, नरसिंहपुर जिले की बेटी अंजना और शिवपुरी जिले की बेटी पूजा की ही केवल अभी तक मदद हो पाई हैं। राज्य सरकार इसको अपनी सफलता की कहानी बताने से हिचकिचा नही रही हैं परंतु इतनी बड़ी योजना का लाभ महज़ चार से पांच कन्याए ही ले पाए तो यह सफलता नही निराशाजनक कहानी हैं।
वही सरकार का कहना हैं कि राज्य सरकार ने सामाजिक एवं स्वयंसेवी संगठनों को सामूहिक विवाह सम्मेलन में प्रत्येक बेटी की शादी की व्यवस्थाओं के लिये 3 हजार की सहायता राशि दी हैं। संगठनों ने टेंट, शामियाना, बिजली, पानी, कूलर, पंखा, गद्दे, रजाई और भोजन आदि की पूरी व्यवस्था की। आगे सरकार द्वारा बताया गया कि शादी के सम्मेलन में ब्याही इन बेटियों को नई गृहस्थी जुटाने के लिये राज्य सरकार ने इनके बैंक खातों में 48-48 हजार रुपये सहायता राशि भी जमा कराई हैं।

Related posts

Leave a Comment